शुक्रवार, 31 अक्टूबर, 2014 | 04:26 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    नौकरानी की हत्या: धनंजय को जमानत, जागृति के रिकार्ड मांगे अमर सिंह के समाजवादी पार्टी में प्रवेश पर उठेगा पर्दा योगी आदित्य नाथ ने दी उमा भारती को चुनौती देश में मौजूद कालेधन पर रखें नजर : अरुण जेटली शिक्षा को लेकर मोदी सरकार पर आरएसएस का दबाव कोयला घोटाला: सीबीआई को और जांच की अनुमति सिख दंगा पीड़ितों के परिजनों को पांच लाख देगा केंद्र अपमान से आहत शिवसेना ने किया फडणवीस के शपथ ग्रहण का बहिष्कार सरकार का कटौती अभियान शुरू, प्रथम श्रेणी यात्रा पर प्रतिबंध बेटे की दस्तारबंदी के लिए बुखारी का शरीफ को न्यौता, मोदी को नहीं
राज ठाकरे पर दो मामले दायर
मधुबनी/मुजफ्फरपुर, एजेंसी First Published:08-01-13 10:01 PM
Image Loading

दिल्ली बलात्कार की घटना को लेकर बिहारियों के खिलाफ भड़काऊ बयान देने के आरोप में राज्य के मधुबनी और मुजफ्फपुर की अदालतों में आज महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) प्रमुख के खिलाफ दो मामले दायर किए गए।
 
मधुबनी के खजौली निवासी पवन कुमार सिंह ने मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी आरपी गुप्ता और मुजफ्फरपुर में सुधीर कुमार ओझा ने मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी एसपी सिंह की अदालत में बिहारियों के खिलाफ भड़काऊ बयान देने के आरोप में भादंवि की विभिन्न धाराओं के तहत मनसे प्रमुख राज ठाकरे के खिलाफ परिवाद पत्र दाखिल किए।
 
मधुबनी में ठाकरे के खिलाफ आरोप लगाया है कि उन्होंने बिहारियों के मान सम्मान को ठेस पहुंचाते हुए पांच जनवरी को मुंबई में गोरेगांव में निंदात्मक बात कही है, जबकि ओझा ने मुजफ्फरपुर के सीजेएम के यहां दायर परिवाद पत्र में आरोप लगाया है कि मनसे प्रमुख जानबूझकर बिहारियों को अपमानित करता हैं। इसलिए उन पर कार्रवाई होनी चाहिए। स्थानीय अदालतों ने दोनों मामलों को अलग-अलग संज्ञान में लिया है।

 
 
 
टिप्पणियाँ