शुक्रवार, 28 अगस्त, 2015 | 14:58 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
उत्तराखंड: यूपी के गोरखपुर में सुपारी देकर वकील की हत्या कराने वाला नैनीताल में गिरफ्तार, 18 अगस्त को गोरखपुर में हुई थी हत्या, तलाश करते हुए नैनीताल पहुंची थी गोरखपुर पुलिस।उत्तर प्रदेश: संभल के गुमसानी और मढन गांव के लोगों ने गांव को असमौली थाने से जोड़ने पर जताई नाराजगी, कमिश्नर दफ्तर के गेट पर पढ़ी नमाज, गांव वाले फिर से मुरादाबाद के पाकवाड़ा थाने से जोड़ने की बात कह रहे हैं।
नक्सलियों से बातचीत के लिए दरवाजे खुले हैं: रमेश
लालगढ़ (पश्चिम बंगाल), एजेंसी First Published:08-12-2012 09:52:06 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

केंद्र सरकार ने कहा कि नक्सलियों से बातचीत के लिए दरवाजे खुले हैं। राज्य के सर्वाधिक माओवाद प्रभावित पश्चिमी मिदनापुर जिले में कांग्रेस की ओर से आयोजित एक रैली में केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री जयराम रमेश ने कहा कि हम माओवादियों से कह रहे हैं कि हमारी सरकार बातचीत के लिए तैयार है और इसके लिए हमारे दरवाजे खुले हैं। उग्र वामपंथियों द्वारा उत्पन्न खतरे का समाधान करने के लिए उन्होंने ‘संवेदनशील विकास’ और ‘राजनीतिक प्रक्रिया’ की महत्ता पर जोर दिया।

रमेश ने कहा है कि इस सच्चाई को जानते हुए कि नक्सलियों का भारतीय लोकतंत्र में कोई भरोसा नहीं है और वे केवल हिंसा के सिद्धांत में विश्वास करते हैं, केंद्र सरकार ने वार्ता का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि वे हमारी विधानसभाओं, लोकसभा और राज्य सभा को ध्वस्त कर देना चाहते हैं।

जनजातियों, खास तौर से वन क्षेत्र में रहने वालों के साथ हुए अन्याय को स्वीकार करते हुए रमेश ने कहा कि ऐसे जनजातियों को दीवानी अधिकार देने के लिए वन अधिकार कानून पारित किया गया है। रमेश ने कहा कि हिंसा का जवाब हिंसा और गोली का जवाब गोली कतई नहीं हो सकता। इसका जवाब बातचीत ही है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय बलों की कार्रवाई पर विचार की जरूरत है, लेकिन इसके साथ ही विकास, न्याय और राजनीतिक प्रक्रिया पर भी विचार होना चाहिए। केंद्रीय मंत्री ने नक्सलियों का गढ़ समझे जाने वाले लालगढ़ में बदली हुई स्थिति के लिए केंद्र के प्रयासों का जिक्र किया।

 

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingबारिश ने खेल रोका, भारत का स्कोर 50/2
भारत और श्रीलंका की क्रिकेट टीमों के बीच शुक्रवार को सिन्हलीज स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर शुरू हुए तीसरे और निर्णायक टेस्ट मैच के पहले सत्र का खेल बारिश से प्रभावित रहा।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब पप्पू पहंचा परीक्षा देने...
अध्यापिका: परेशान क्यों हो?
पप्पू ने कोई जवाब नहीं दिया।
अध्यापिका: क्या हुआ, पेन भूल आये हो?
पप्पू फिर चुप।
अध्यापिका : रोल नंबर भूल गए हो?
अध्यापिका फिर से: हुआ क्या है, कुछ तो बताओ क्या भूल गए?
पप्पू गुस्से से: अरे! यहां मैं पर्ची गलत ले आया हूं और आपको पेन-पेंसिल की पड़ी है।