शुक्रवार, 31 जुलाई, 2015 | 01:46 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    ना 'पाक' हरकतों से नहीं बाज आ रहा है पाकिस्तान, फिर किया सीजफायर का उल्लंघन, 1 जवान शहीद देश में केवल 17 व्यक्तियों पर 2.14 लाख करोड़ का कर बकाया  2022 तक आबादी में चीन को पीछे छोड़ देगा भारत  झारखंड में दिसंबर तक होगी 40 हजार शिक्षकों की नियुक्तियां महिन्द्रा सितंबर में पेश करेगी एसयूवी टीयूवी-300  नेपाल: भारी बारिश के बाद भूस्खलन, 13 महिलाओं समेत 33 की मौत, 20 से अधिक लापता पेट्रोल-डीजल के दामों में हो सकती है कटौती, 1 रुपये 50 पैसे तक घट सकते हैं दाम नागपुर की सेंट्रल जेल में 1984 के बाद पहली बार दी गई फांसी पढ़ें 1993 में हुए सीरियल बम ब्लास्ट से अब तक का घटनाक्रम निर्दोषों को आतंकी कहा जा रहा है, मैं धमाकों का जिम्मेदार नहीं: याकूब
मनमोहन न तो पार्टी और न देश के नेताः सुषमा
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:15-12-2012 06:34:16 PMLast Updated:15-12-2012 08:03:14 PM
Image Loading

लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज ने शनिवार को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को निशाने पर लेते हुए कहा कि वह प्रधानमंत्री तो हैं लेकिन न तो वह अपनी पार्टी कांग्रेस और न ही देश के नेता हैं।

सुषमा ने कुछ फैसलों या उनमें विलंब के लिए गठबंधन की बाध्यताओं का बहाना लेने के लिए प्रधानमंत्री की आलोचना की। उन्होंने कहा कि हमने भी गठबंधन सरकार चलाई थी, जिसमें अधिक घटक दल थे। राजग में 24 दल थे। मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री हैं लेकिन न तो वह अपनी पार्टी और न ही देश के नेता हैं।

सुषमा ने कहा कि विपक्ष केवल वाचडाग की अपनी भूमिका निभा रहा है और सरकार से कहा है कि वह आत्मविश्लेषण करे। उन्होंने कहा कि जो घोटाले हो रहे हैं, वे केवल विपक्ष के आरोप नहीं हैं बल्कि उनका पर्दाफाश कैग (नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक) जैसी संवैधानिक संस्थाओं ने किया है। उन्होंने सरकार के इस आरोप से इंकार किया कि हालात के लिए विपक्ष जिम्मेदार है क्योंकि वह महत्वपूर्ण विधेयकों और नीतिगत कदमों को अपनाने में बाधा पहुंचा रहा है।

सुषमा ने कहा कि प्रधानमंत्री कहते हैं कि विपक्ष विधेयकों को पारित नहीं होने दे रहा हैं। मैं स्पष्ट करना चाहती हूं कि विधेयक सरकार और उसके घटक दलों के आंतरिक मतभेदों के कारण नहीं पारित हो पा रहे हैं। उन्होंने पेशन विधेयक का उदाहरण देते हुए कहा कि भाजपा ने उस समय विधेयक को पेश करते समय सरकार की मदद की थी, जब सदन में उसके पास बहुमत नहीं था और वाम दलों ने मत विभाजन की मांग की थी।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingपे टीएम ने बीसीसीआई से 2019 तक प्रायोजन अधिकार खरीदे
पे टीएम के मालिक वन97 कम्युनिकेशंस ने आज भारत में अगले चार साल तक होने वाले घरेलू और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैचों के अधिकार 203.28 करोड़ रूप में खरीद लिए।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड