सोमवार, 24 नवम्बर, 2014 | 03:46 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
आपत्तिजनक टिप्पणी के लिए अय्यर के खिलाफ विशेषाधिकार हनन कार्यवाही की मांग
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:30-11-12 02:34 PM
Image Loading

आसन के समक्ष आकर हंगामा करने वाले सांसदों के खिलाफ मनोनीत सदस्य मणिशंकर अय्यर की आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर आज राज्यसभा में सपा, भाजपा और वाम सहित कई दलों के सदस्यों ने भारी विरोध जताते हुए उनसे माफी मांगने को कहा और ऐसा नहीं करने की स्थिति में उनके खिलाफ विशेषाधिकार हनन की कार्यवाही की मांग की।
     
सदन में यह मुद्दा उठाए जाने पर उपसभापति पी जे कुरियन ने कहा कि इस विषय पर अय्यर को अपना पक्ष रखने का मौका दिया जाना चाहिए। उसके बाद ही सदन को इस मुद्दे पर आगे विचार करना चाहिए।
     
प्रश्नकाल खत्म होते ही सपा के नरेश अग्रवाल ने कहा कि अय्यर की यह टिप्पणी न केवल कुछ सदस्यों बल्कि पूरे सदन की अवमानना है। उन्होंने मांग की कि अय्यर को सदन में बुलाया जाए और उनसे इस टिप्पणी के लिए माफी मांगने को कहा जाए।
    
अग्रवाल ने कहा कि यदि अय्यर माफी नहीं मांगते हैं तो उनके खिलाफ विशेषाधिकार हनन की कार्यवाही चले। सपा सदस्य की इस मांग का भाजपा, राजद, वाम, अगप आदि दलों के सदस्यों ने समर्थन करते हुए कहा कि अय्यर को इस मुद्दे पर फौरन सफाई देनी चाहिए।
   
उत्तेजित सदस्यों को शांत करते हुए कुरियन ने कहा कि यदि सदस्य इस मुद्दे को उठाना चाहते हैं तो इसके लिए उन्हें समुचित नोटिस देना चाहिए। उन्होंने कहा कि नोटिस पर सभापति विचार करेंगे। इस मामले में वह स्वत: आधार पर कोई टिप्पणी नहीं कर सकते।
    
भाजपा के राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि अय्यर के बयान से पूरे सदन का अपमान हुआ है। अय्यर राजनयिक रह चुके हैं और उन्हें पता होना चाहिए कि सदस्यों और सदन के बारे में कोई ऐसी टिप्पणी नहीं करनी चाहिए जिससे उनका अपमान हो। उन्होंने भी कहा कि अय्यर को अपना बयान वापस लेना चाहिए।
     
संसदीय कार्य मंत्री राजीव शुक्ला ने कहा कि यदि अय्यर ने ऐसा कोई बयान दिया है तो वह पूरी तरह से अनुचित है। उन्होंने कहा कि वह इस संबंध में अय्यर से बात करेंगे और कहेंगे कि वह सदन में आकर सदस्यों से क्षमा याचना करें तो अच्छा है।
     
कई सदस्यों द्वारा इस पर आपत्ति जताने के बाद शुक्ला ने कहा कि यदि उन्होंने ऐसी कोई टिप्पणी की है तो मैं सबसे पहले अपनी ओर से क्षमायाचना करता हूं। यदि उन्होंने ऐसा कहा है तो मैं उनसे कहूंगा कि वह सदन में आकर सदस्यों से माफी मांगें।
     
गौरतलब है कि अय्यर ने संसद से बाहर कल आसन के समक्ष आकर हंगामा करने वाले सांसदों की तुलना कथित तौर पर जानवरों से की थी।

 
 
 
टिप्पणियाँ