शनिवार, 25 अक्टूबर, 2014 | 22:59 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
सबरीमला मंदिर से 35,000 बोरों में भरकर निकला कचरा
सबरीमला (केरल), एजेंसी First Published:29-11-12 01:18 PM
Image Loading

केरल के सबरीमला स्थित प्रसिद्ध हिन्दू मंदिर की बढ़ती लोकप्रियता के चलते यहां दर्शन करने पहुंचने वाले लोगों की संख्या में हर साल इजाफा हो रहा है।

इसके कारण स्थानीय प्रशासन को कचरे की समस्या का सामना करना पड़ रहा है। इस वर्ष माता अमृतानंदमयी मठ द्वारा मंदिर परिसर में कराई गई साफ सफाई के दौरान 35,000 बड़े बोरे भरकर कचरा इकट्ठा हुआ है।

पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी अम्मा के नाम से प्रसिद्ध गुरु माता अमृतानंदमयी के आह्वान पर 5000 से अधिक स्वयंसेवक पहले चरण की सफाई के लिए मंदिर परिसर पहुंचे थे।

स्वयंसेवकों में आश्रम में रहने वाले लोग, बंगलुरु, अमृतपुरी, कोयम्बटूर, कोच्चि और मैसूर से आए विद्यार्थी भी शामिल थे। इनके अलावा केरल, कर्नाटक और तमिलनाडु से भी भक्त सफाई कार्य में योगदान देने आए हुए थे।

यह सफाई अभियान तीन से चार नवम्बर तक चला और मंदिर प्रशासन का कहना है कि अब मंदिर दोबारा से नए भक्तों के आगमन के लिए तैयार है।

सफाई अभियान का नेतृत्व करने वाले सुदीप ने बताया कि हमारे स्वयंसेवकों ने जलाने योग्य चीजों को छांट लिया था और उन्हें पहाड़ की चोटी पर ले जाकर भट्टी में जला दिया। कचरे में इकट्ठा हुए शेष सामान को जिला प्रशासन को सौंप दिया गया है। स्वयंसेवकों में विदेशी भक्त भी शामिल थे।

पाथनमथिट्टा जिले के पाम्बा में स्थित यह मंदिर घने जंगलों से घिरा हुआ है।

 
 
 
 
टिप्पणियाँ