गुरुवार, 30 अक्टूबर, 2014 | 20:02 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    सिख दंगा पीड़ितों के परिजनों को पांच लाख देगा केंद्र अपमान से आहत शिवसेना ने किया फडणवीस के शपथ ग्रहण का बहिष्कार सरकार का कटौती अभियान शुरू, प्रथम श्रेणी यात्रा पर प्रतिबंध बेटे की दस्तारबंदी के लिए बुखारी का शरीफ को न्यौता, मोदी को नहीं कालेधन मामले में सभी दोषियों की खबर लेगा एसआईटी: शाह एनसीपी के समर्थन देने पर शिवसेना ने उठाये सवाल 'कम उम्र के लोगों की इबोला से कम मौतें'  श्रीलंका में भूस्खलन में 100 से अधिक लोग मरे स्वामी के खिलाफ मानहानि मामले की सुनवाई पर रोक मायाराम को अल्पसंख्यक मंत्रालय में भेजा गया
कावेरी मुद्दे पर चर्चा के लिए जयललिता से मिलेंगे शेट्टार
चेन्नई, एजेंसी First Published:27-11-12 12:35 PM
Image Loading

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता और कर्नाटक के मुख्यमंत्री जगदीश शेट्टार कावेरी जल बंटवारा गतिरोध का समाधान तलाश करने के उद्देश्य से गुरुवार को को बंगलुरु में बैठक करेंगे।
    
उच्चतम न्यायालय ने कल दोनों मुख्यमंत्रियों से कहा था कि वे बैठक करें और संवेदनशील जल विवाद का सौहार्दपूर्ण समाधान तलाश करें। तमिलनाडु सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि मुख्यमंत्री 29 नवम्बर को शेट्टार से मिलेंगी और उच्चतम न्यायालय के सुझाव के मुताबिक दोनों राज्यों के किसानों को ध्यान में रखते हुए इस मुद्दे पर विचार-विमर्श करेंगी।
    
शीर्ष न्यायालय के न्यायमूर्ति डी़ क़े जैन और न्यायमूर्ति मदन बी़ लोकुर की पीठ ने कल कहा था कि दोनों मुख्यमंत्री एक साथ क्यों नहीं बैठ सकते, कोशिश कीजिए, यह असंभव नहीं है। तमिलनाडु सरकार के बयान में कहा गया है, हम चाहते हैं कि आपके साथ सौहार्दपूर्ण तरीके से बैठक हो और दोनों राज्यों के किसानों के व्यापक हित में इस मुद्दे पर विचार-विमर्श हो।
    
अदालत ने कहा था कि प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली कावेरी नदी प्राधिकार के लिए संभव नहीं है कि बैठक करे, इसलिए राज्य सरकारों को समाधान ढूंढने के लिए बैठक करनी चाहिए।
    
पीठ ने कहा कि आपसी आदान प्रदान पद्धति से समाधान तलाशने का प्रयास करें। मुख्यमंत्रियों को सिर्फ कॉफी पीने के लिए बैठक नहीं करनी चाहिए, बल्कि समाधान ढूंढने के लिए अपने विशेषज्ञों के साथ मिलना चाहिए।
    
शीर्ष अदालत ने दोनों मुख्यमंत्रियों से बैठक करने की अपील की थी और मामले की सुनवाई की तारीख शुक्रवार तय की थी।

 
 
 
टिप्पणियाँ