मंगलवार, 01 सितम्बर, 2015 | 11:28 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
बिना सब्सिडी वाला रसोई गैस का सिलेंडर 25 रुपये 50 पैसे सस्ता हुआ।उत्तर प्रदेश: अमरोहा में शहजादपुर के जंगल में तेंदुआ होने की अफवाह पर फैली दहशत, कल शाम ग्रामीण द्वारा जंगल में देखा गया जंगली जानवर, सुबह खेतों में गए ग्रामीणों को मिले पंजों के निशान।
कश्मीर घाटी में फिर हिमपात, रात का तापमान बढ़ा
श्रीनगर, एजेंसी First Published:09-01-2013 12:57:08 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

कश्मीर के निवासियों को रात का तापमान बढ़ कर पांच डिग्री होने के बाद तेज ठंड से थोड़ी राहत मिली, लेकिन घाटी के कुछ भागों में फिर से हिमपात हो गया।
   
मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि श्रीनगर में रात का तापमान शून्य से नीचे तीन डिग्री दर्ज किया जा रहा था, जो इस मौसम का सबसे कम तापमान था। लेकिन यहां बीती रात तापमान बढ़ कर 5.2 डिग्री सेल्सियस हो गया।
   
लद्दाख का सीमावर्ती शहर करगिल राज्य में सबसे ठंडा स्थान रहा जहां तापमान शून्य से नीचे 15.8 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया। समीपवर्ती लेह शहर में भी रात का तापमान बढ़ा है। पहले यहां का न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 17.8 डिग्री था, जो कल 12.6 डिग्री हो गया।  
   
मौसम विभाग के अनुसार, उत्तरी कश्मीर के स्कीइंग रिजॉर्ट गुलमर्ग में न्यूनतम तापमान पांच डिग्री बढ़ गया और शून्य से नीचे 4.2 डिग्री दर्ज किया गया। पहलगाम पहाड़ी रिजॉर्ट का न्यूनतम तापमान छह डिग्री बढ़ कर शून्य से नीचे 3.2 डिग्री दर्ज किया गया।
   
श्रीनगर सहित घाटी के कई इलाकों में हिमपात हुआ। काजीगुंद, पहलगाम और कुपवाड़ा इलाकों में भी हिमपात हुआ। मौसम विभाग ने इस सप्ताह के आखिर में और बारिश या हिमपात होने की आशंका जताई है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingद्रविड़ ने कहा, मेरी तकनीक में कुछ भी गड़बड़ नहीं है: पुजारा
लगभग दो साल बाद अपना पहला टेस्ट शतक जमाने के बाद राहत महसूस कर रहे भारतीय बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने आज भारत ए टीम के कोच राहुल द्रविड़ का आभार व्यक्त किया जिन्होंने उन्हें भरोसा दिलाया कि उनकी तकनीक में कुछ भी गड़बड़ नहीं थी।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

कहां रखें पैसे
पत्नी: मैं जहां भी पैसा रखती हूं हमारा बेटा वहां से चुरा लेता है। मेरी समझ नहीं आ रहा कि पैसे कहां रखूं?
पति: पैसे उसकी किताबों में रख दो, वो उन्हें कभी नहीं छूता।