शनिवार, 31 जनवरी, 2015 | 04:44 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
फतुहा में बिजली की तार की चपेट में ट्रॉली आई, दो की मौतअमिता को पीजीआई लखनऊ भेजा गया था महिला के खून का नमूना, जांच में स्वाइन फ्लू की पुष्टिबरेली में स्वाइन फ्लू से पहली मौत की पुष्टि, राममूर्ति मेडिकल कालेज में हुई थी 24 जनवरी को सीबीगंज की अमिता उपाध्याय की मौतपाकिस्तान के शिकारपुर में ब्लास्ट, 20 लोगों की मौतयूपी: लखीमपुर खीरी के मैगलंगज में युवक की हत्या, ट्रैक्टर ट्रॉली पर फेंक दिया शव, गला दबाकर हत्या का आरोपबरेली : इंडियन वैटेनरी रिसर्च इंस्टीट्यूट (आईवीआरआई) और सेंट्रल एवियन रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीएआरआई) में रेबीज का कहर, आवारा कुत्तों के काटने से कई वैज्ञानिक रेबीज की चपेट में, मारे गए कुत्तों के पोस्टमार्टम में रेबीज की पुष्टि
जेडीएस करेगा अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन: देवगौड़ा
बीजापुर, एजेंसी First Published:05-01-13 03:32 PM

बीएस येदियुरप्पा द्वारा भाजपा सरकार को अपदस्थ करने की धमकी दिए जाने के बीच जनता दल एस (जेडीएस) ने आज कहा कि वह जगदीश शेट्टार सरकार के खिलाफ कांग्रेस के अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन करने को तैयार है।
   
पार्टी प्रमुख एवं पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा ने संवाददाताओं से कहा कि यदि कांग्रेस राज्य की भाजपा सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाती है तो जेडीएस समर्थन करने को तैयार है।
   
उन्होंने कहा कि जेडीएस ने उसी दिन अपना रुख स्पष्ट कर दिया था, जब भाजपा और येदियुरप्पा द्वारा बनाए गए कर्नाटक जनता पक्ष के बीच मतभेद पैदा हुए। देवगौड़ा ने कहा कि पार्टी, हालांकि भाजपा से हाथ नहीं मिलाएगी और विधानसभा में शेट्टार के बहुमत खो देने पर सरकार बनाएगी।
   
उधर करीब 15 भाजपा विधायकों का समर्थन रखने वाले येदियुरप्पा ने कहा है कि दक्षिण की पहली भाजपा सरकार को गिराने पर फैसला 15 जनवरी को किया जाएगा। उन्होंने संकल्प किया कि वह शेट्टार को अगले महीने बजट पेश नहीं करने देंगे।
   
देवगौड़ा ने आरोप लगाया कि कांग्रेस मुख्य विपक्ष की भूमिका सही ढंग से नहीं निभा रही है, क्योंकि इसने वर्तमान सरकार के किसी भी घोटाले का खुलासा नहीं किया। देवगौड़ा ने एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि वह स्वास्थ्य कारणों से तीसरे मोर्चे का नेतृत्व करने के पक्ष में नहीं हैं। उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त तीसरे मोर्चे के दलों के बीच एकता की कमी एक कड़वी सचाई है।
  
उन्होंने राजनीतिक दलों से सामूहिक बलात्कार की घटनाओं का राजनीतिकरण नहीं करने तथा बलात्कारियों के खिलाफ कठोर कानून का समर्थन करने की अपील की।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड