सोमवार, 03 अगस्त, 2015 | 05:58 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    झारखंड की शिक्षा मंत्री की शिक्षा का जवाब नहीं, अब बिहार को बताया पड़ोसी देश पाकिस्तान ने 163 भारतीय मछुआरों को रिहा किया  हम टीचर्स की इज्जत करतें हैं, आपलोगों को नहीं मारेंगे: आईएस आतंकी  पीएम मोदी की गया रैली में प्रयोग होगा एसपीजी की 'ब्लू बुक' अलर्ट, जानिये क्या है 'ब्लू बुक'... लालू ने भरी हुंकार, कहा शोषितों की आजादी की दूसरी लड़ाई लड़ रहा राजद कांगेस ने साधा धूमल और अनुराग ठाकुर पर निशाना  LIVE VIDEO: हरिद्वार में चालक ने पुलिस पर चढ़ाई कार, आरोपी गिरफ्तार राष्ट्रपति शासन में हो बिहार का चुनाव: पासवान  आधा देश बाढ़ तो आधा सूखे की ओर  शिक्षक बनने के लिए नेट और पीएचडी योग्यताओं की समीक्षा होगी
जम्मू-कश्मीर में विधान परिषद की सीटों के लिए मतदान
श्रीनगर, एजेंसी First Published:03-12-2012 12:44:57 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

जम्मू-कश्मीर में पंचायत कोटे के तहत चार विधान परिषद सीटों के लिए कड़ी सुरक्षा के बीच सोमवार को मतदान हो रहा है।

आरक्षित सीटों के लिए मतदान 38 साल के अंतराल के बाद हो रहा है, क्योंकि राज्य में तीन दशक के अंतराल के बाद पिछले साल पंचायत चुनाव हुए थे। कश्मीर के संभागीय आयुक्त असगर समून ने कहा कि मतदान सुबह नौ बजे शुरू हुआ और शाम पांच बजे तक चलेगा।

कम से कम 33,450 पंचायत सदस्य चुनाव मैदान में उतरे 37 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे। निर्वाचन अधिकारियों ने कहा कि जम्मू के कुछ इलाकों में मतदान अच्छा हो रहा है, लेकिन घाटी में सुबह तेज ठंड के कारण मतदाताओं की संख्या अपेक्षाकत कम रही।

सत्तारूढ़ गठबंधन के घटक नेश्नल कॉन्फ्रेंस और कांग्रेस संयुक्त रूप से चुनाव लड़ रहे हैं और चार सीटों में से प्रत्येक के लिए उन्होंने दो प्रत्याशी उतारे हैं। पीडीपी और पैन्थर्स पार्टी सहित विपक्षी दलों ने चारों सीटों पर चार प्रत्याशी उतारे, जबकि भारतीय जनता पार्टी जम्मू क्षेत्र की दो और कश्मीर घाटी की एक सीट पर चुनाव लड़ रही है।

बहुजन समाज पार्टी ने भी तीन प्रत्याशियों को टिकट दिया है। जम्मू संभाग में दो विधान पार्षद चुनने के लिए 15,628 पंचायत सदस्य अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। चुनाव मैदान में 21 प्रत्याशी हैं। कश्मीर संभाग में 16 प्रत्याशियों में से दो प्रतिनिधियों के चयन के लिए 17,912 सदस्य मतदान करेंगे।

मतदान के लिए सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं। किसी भी अवांछित घटना से निपटने के लिए संवेदनशील इलाकों में अर्धसैनिक बल और राज्य पुलिस के जवान तैनात हैं। सीआरपीएफ की 27 कंपनियां और पुलिस तथा सशस्त्र पुलिस की 40 कंपनियां सुरक्षा के लिए तैनात हैं और मतदान के दौरान नजर रख रही हैं।

उग्रवाद की हालिया घटनाओं के मद्देनजर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। सूत्रों ने बताया कि जिन स्थानों पर मतदान मंगलवार को होना है, वहां भी सीआरपीएफ और पुलिस की तैनाती लगभग हो चुकी है। मतगणना छह दिसंबर को होगी। सभी जिला मुख्यालयों से इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों को चार तथा पांच दिसंबर को जम्मू और श्रीनगर ले जाया जाएगा।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image LoadingMCA ने शाहरुख के वानखेड़े स्टेडियम में प्रवेश करने से बैन हटाया
मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन ने अभिनेता शाहरुख खान पर वानखेड़े स्टेडियम में घुसने पर लगा प्रतिबंध हटा लिया है। एमसीए के उपाध्यक्ष आशीष शेलार के मुताबिक एमसीए ने यह फैसला रविवार को हुई मैनेजिंग कमेटी की बैठक में लिया है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब बीमार पड़ा संता...
जीतो बीमार पति से: जानवर के डॉक्टर को मिलो तब आराम मिलेगा!
संता: वो क्यों?
जीतो: रोज़ सुबह मुर्गे की तरह जल्दी उठ जाते हो, घोड़े की तरह भाग के ऑफिस जाते हो, गधे की तरह दिनभर काम करते हो, घर आकर परिवार पर कुत्ते की तरह भोंकते हो, और रात को खाकर भैंस की तरह सो जाते हो, बेचारा इंसानों का डॉक्टर आपका क्या इलाज करेगा?