शनिवार, 05 सितम्बर, 2015 | 13:16 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
मेरठ: दोस्तों के साथ आये युवा व्यापारी की चाकुओं से गोदकर हत्यारक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, अमित शाह से मिलने पहुंचे। 2.30 बजे रक्षा मंत्रालय की प्रेस कांफ्रेंस, OROP की घोषणा संभवउत्तराखंड: पिथौरागढ़ में शिक्षकों ने सम्मान समारोह का बहिष्कार कर सड़क पर भीख मांगी, चार माह से वेतन नहीं मिलने से नाराज हैं जूनियर हाईस्कूलों के शिक्षकहरियाणा के फरीदाबाद में 6 सितंबर से शुरु होगी मेट्रो, पीएम मोदी करेंगे उद्घाटन, सीएम खट्टर ने की प्रेस कांफ्रेंस
जम्मू-कश्मीर में विधान परिषद की सीटों के लिए मतदान
श्रीनगर, एजेंसी First Published:03-12-2012 12:44:57 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

जम्मू-कश्मीर में पंचायत कोटे के तहत चार विधान परिषद सीटों के लिए कड़ी सुरक्षा के बीच सोमवार को मतदान हो रहा है।

आरक्षित सीटों के लिए मतदान 38 साल के अंतराल के बाद हो रहा है, क्योंकि राज्य में तीन दशक के अंतराल के बाद पिछले साल पंचायत चुनाव हुए थे। कश्मीर के संभागीय आयुक्त असगर समून ने कहा कि मतदान सुबह नौ बजे शुरू हुआ और शाम पांच बजे तक चलेगा।

कम से कम 33,450 पंचायत सदस्य चुनाव मैदान में उतरे 37 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे। निर्वाचन अधिकारियों ने कहा कि जम्मू के कुछ इलाकों में मतदान अच्छा हो रहा है, लेकिन घाटी में सुबह तेज ठंड के कारण मतदाताओं की संख्या अपेक्षाकत कम रही।

सत्तारूढ़ गठबंधन के घटक नेश्नल कॉन्फ्रेंस और कांग्रेस संयुक्त रूप से चुनाव लड़ रहे हैं और चार सीटों में से प्रत्येक के लिए उन्होंने दो प्रत्याशी उतारे हैं। पीडीपी और पैन्थर्स पार्टी सहित विपक्षी दलों ने चारों सीटों पर चार प्रत्याशी उतारे, जबकि भारतीय जनता पार्टी जम्मू क्षेत्र की दो और कश्मीर घाटी की एक सीट पर चुनाव लड़ रही है।

बहुजन समाज पार्टी ने भी तीन प्रत्याशियों को टिकट दिया है। जम्मू संभाग में दो विधान पार्षद चुनने के लिए 15,628 पंचायत सदस्य अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। चुनाव मैदान में 21 प्रत्याशी हैं। कश्मीर संभाग में 16 प्रत्याशियों में से दो प्रतिनिधियों के चयन के लिए 17,912 सदस्य मतदान करेंगे।

मतदान के लिए सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं। किसी भी अवांछित घटना से निपटने के लिए संवेदनशील इलाकों में अर्धसैनिक बल और राज्य पुलिस के जवान तैनात हैं। सीआरपीएफ की 27 कंपनियां और पुलिस तथा सशस्त्र पुलिस की 40 कंपनियां सुरक्षा के लिए तैनात हैं और मतदान के दौरान नजर रख रही हैं।

उग्रवाद की हालिया घटनाओं के मद्देनजर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। सूत्रों ने बताया कि जिन स्थानों पर मतदान मंगलवार को होना है, वहां भी सीआरपीएफ और पुलिस की तैनाती लगभग हो चुकी है। मतगणना छह दिसंबर को होगी। सभी जिला मुख्यालयों से इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों को चार तथा पांच दिसंबर को जम्मू और श्रीनगर ले जाया जाएगा।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingटीचर्स डे पर तेंदुलकर ने आचरेकर सर को ऐसे किया 'सलाम'
मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के नाम इंटरनेशनल क्रिकेट के बल्लेबाजी के लगभग सभी बड़े रिकॉर्ड्स दर्ज हैं। तेंदुलकर को क्रिकेट के भगवान तक का दर्जा दिया गया है, लेकिन इन सबके पीछे एक इंसान का सबसे बड़ा योगदान रहा है, तेंदुलकर के गुरु रमाकांत आचरेकर।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड Others
 
Image Loading

अलार्म से नहीं खुलती संता की नींद
संता बंता से: 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह-सुबह मेरी नींद खुल गई।
बंता: क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?
संता: नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।