गुरुवार, 30 अक्टूबर, 2014 | 23:00 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    नौकरानी की हत्या: धनंजय को जमानत, जागृति के रिकार्ड मांगे अमर सिंह के समाजवादी पार्टी में प्रवेश पर उठेगा पर्दा योगी आदित्य नाथ ने दी उमा भारती को चुनौती देश में मौजूद कालेधन पर रखें नजर : अरुण जेटली शिक्षा को लेकर मोदी सरकार पर आरएसएस का दबाव कोयला घोटाला: सीबीआई को और जांच की अनुमति सिख दंगा पीड़ितों के परिजनों को पांच लाख देगा केंद्र अपमान से आहत शिवसेना ने किया फडणवीस के शपथ ग्रहण का बहिष्कार सरकार का कटौती अभियान शुरू, प्रथम श्रेणी यात्रा पर प्रतिबंध बेटे की दस्तारबंदी के लिए बुखारी का शरीफ को न्यौता, मोदी को नहीं
सैनिकों की नृशंस हत्या सभ्य समाज में अस्वीकार्य: उमर
जम्मू, एजेंसी First Published:08-01-13 10:34 PM
Image Loading

जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने पाकिस्तानी सेना द्वारा नियंत्रण रेखा पर दो भारतीय सैनिकों की हत्या को अस्वीकार्य करार दिया और कहा कि यह दोनों देशों के बीच बातचीत प्रक्रिया को पटरी से उतारने का प्रयास है। उमर ने माइक्रो ब्लागिंग साइट टि्वटर पर कहा कि भारतीय सैनिकों की नृशंस हत्या किए जाने की खबर किसी भी सभ्य समाज में अस्वीकार्य है।

उमर ने ट्वीट किया कि संघर्षविराम का उल्लंघन ही काफी निंदनीय है। सैनिकों की नृशंस हत्या तो किसी भी सभ्य समाज में अस्वीकार्य है। उन्होंने कहा कि यह दोनों देशों के बीच बातचीत प्रक्रिया को पटरी से उतारने का प्रयास है। निश्चित रूप से शीर्ष पर बैठा कोई व्यक्ति दोनों देशों के बीच की बातचीत प्रकिया को पटरी से उतारने के लिए हरसंभव प्रयत्न करना चाहता है।

उमर ने इस घटना पर चिंता जताई और कहा कि ऐसी घटना पर रोक लगनी चाहिए क्योंकि इससे सीमा पार से घुसपैठ में वृद्धि हो सकती है। उन्होंने कहा कि संघर्षविराम कायम रहना चाहिए नहीं तो गोलीबारी की आड़ में घुसपैठ कई गुना बढ़ जाएगी। पाकिस्तानी सैनिक पहले ही भारतीय क्षेत्र में घुस आए और सेना की गश्ती पार्टी पर हमला कर दो सैनिकों की हत्या कर दी। कथित तौर पर दोनों सैनिकों के सिर काट दिए गए।

 
 
 
टिप्पणियाँ