सोमवार, 22 दिसम्बर, 2014 | 20:16 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
हिन्‍दुस्तानी सब्जियों से सेहत सुधारेंगे सार्क देश
वाराणसी, एजेंसी First Published:31-12-12 12:48 PM
Image Loading

हिन्‍दुस्तानी सब्जियों से अब सार्क देशों की सेहत सुधारने की कवायद की जा रही है। इस दिशा में मिट्टी, जलवायु और मौसम में थोड़ी भिन्नता होने के बावजूद कृषि वैज्ञानिक सार्क देशों में भारतीय सब्जियां उगाने का प्रयोग कर रहे हैं।

भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान (आईआईवीआर) एवं बांग्लादेश के ढाका स्थित सार्क कृषि केंद्र के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए आईआईवीआर के निदेशक डॉक्टर पीएस नाइक ने यह जानकारी दी।

नाइक ने कहा कि भारत सब्जियों के उत्पादन में अग्रणी है। सार्क मुल्कों की सब्जियों के बीज एक-दूसरे के यहां लगाए गए हैं। भारत भी परीक्षण खेती के लिए बैंगन, भिंडी, टमाटर, खीरा और कुम्हड़ा सार्क देशों को देगा। इसके लिए सरकार से अनुमति भी मिल गई है।

उन्होंने कहा कि इस पद्धति से सार्क के सभी सदस्य देशों (पाकिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, अफगानिस्तान, नेपाल और श्रीलंका) के किसान लाभान्वित होंगे। आईसीएआर दिल्ली के उप महानिदेशक (बागवानी) एनके कृष्ण कुमार ने कहा कि यदि संयुक्त प्रयास से हम खाद्य संसाधनों का उत्पादन बढ़ाने में कामयाब रहते हैं, तो यह सभी के लिए लाभकारी होगा।

उन्होंने कहा कि सिर्फ सब्जियों में ही नहीं, बल्कि तिलहन, दलहन, गेहूं और चावल की खेती में भी हमें इस तरह का संयुक्त प्रयास करना चाहिए।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड