बुधवार, 26 नवम्बर, 2014 | 09:32 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    प्रधानमंत्री ने 26/11 की छठवीं बरसी पर दी श्रद्धांजलि पीएम मोदी ने नेपाल संविधान को समय पर तैयार करने का आहवान किया झारखंड में पहले चरण में लगभग 62 फीसदी मतदान  जम्मू-कश्मीर में आतंक को वोटरों का मुंहतोड़ जवाब, रिकार्ड 70 फीसदी मतदान  राज्यसभा चुनाव: बीरेंद्र सिंह, सुरेश प्रभु ने पर्चा भरा डीडीए हाउसिंग योजना का ड्रॉ जारी, घर का सपना साकार अस्थिर सरकारों ने किया झारखंड का बेड़ा गर्क: मोदी नेपाल में आज से शुरू होगा दक्षेस शिखर सम्मेलन  दक्षिण एशिया में शांति, विकास के लिए सहयोग करेगा भारत काले धन पर तृणमूल का संसद परिसर में धरना प्रदर्शन
होवित्जर तोप की खरीदारी से पीछे हटा भारत
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:12-12-12 07:49 PMLast Updated:12-12-12 09:17 PM
Image Loading

भारत ने 180 होवित्जर तोपों की खरीदारी टाल दी है। पिछले 10 साल में इस तोप की खरीदारी तीसरी बार टाली गई है। इस आशय की जानकारी बुधवार को संसद में दी गई।

रक्षा मंत्री ए.के. एंटनी ने लोकसभा में बताया कि स्व-प्रणोदित (व्हील्ड) 155 एमएम/52 कैलिबर के तोप की खरीदारी के लिए सबसे पहले फरवरी 2002 में प्रस्ताव के लिए आग्रह (आरएफपी) 11 फर्मो को जारी किया गया। इनमें से केवल पांच कंपनियों ने जवाब दिया और एक तकनीकी मूल्यांकन के लिए योग्य पाई गई। रक्षा मंत्री ने कहा कि प्रक्रियागत कमियों के कारण पीएफपी टाल दी गई।

फरवरी 2007 में 29 फर्मो के लिए एक आरएफपी जारी की गई, लेकिन उनमें से केवल दो ने रुचि दिखाई। प्रक्रियागत कमी के कारण एक प्रस्ताव के निरस्त किए जाने कारण केवल एक वेंडर बचा रह गया।

मंत्री ने कहा कि तीसरी बार फरवरी 2008 में प्रस्ताव जारी किया गया, लेकिन रुचि दिखाने वाली दो फर्मो में से एक भी मापदंडों पर खड़ा नहीं उतर सकी। अंतिम बार 20012 में प्रक्रिया निरस्त की गई।

 
 
 
टिप्पणियाँ