बुधवार, 28 जनवरी, 2015 | 17:36 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
निठारी कांड : रिम्पा हलदर मामले में दया याचिका के निस्तारण में देरी के कारण हाईकोर्ट ने सुरेंद्र कोली की फांसी की सज़ा को उम्रकैद में बदला
भारत ने जंदल पर मलिक के बयान को हास्यास्पद बताया
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:16-12-12 11:24 PM
Image Loading

भारत ने पाकिस्तान के गृह मंत्री रहमान मलिक के उस दावे को हास्यास्पद करार देकर खारिज कर दिया जिसमें उन्होंने दावा किया था कि मुंबई हमले का आरोपी और लश्कर-ए-तय्यबा का आतंकवादी भारतीय खुफिया एजेंसी का एजेंट था। मलिक अपने बयान पर कायम रहे हैं।

गृह सचिव आरके सिंह ने मलिक के बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि इस तरह का बयान हास्यास्पद है। जंदल पाकिस्तान की धरती पर काम कर रहा था जब मुंबई आतंकी हमले को अंजाम दिया गया है। जंदल का उल्लेख करते हुए मलिक ने आज कहा कि जंदल ने स्वीकार किया है कि वह जाना-माना अपराधी था जिसपर अनेक मामलों में आरोप थे। जंदल को हाल में सउदी अरब से प्रत्यर्पित करके लाया गया था।

मलिक ने ऑब्जर्वर रिसर्च फाउन्डेशन में व्याख्यान देते हुए कहा कि उसने भारत की एजेंसी के स्रोतों में से एक के तौर पर काम किया। अब देखिए, उसने एजेंसियों का भी इस्तेमाल किया और शरारती तत्व बन गया। इसे दूसरे तरीके से रखें। आप एक स्रोत बनते हैं। आप डबल एजेंट बनते हैं। जब काम कर रहा है, भारत में रह रहा है तब वह हो सकता है कि शरारती तत्व बन गया और इसके बाद तीन लोग पाकिस्तान जाते हैं।

मलिक ने कहा कि पाकिस्तानी अमेरिकी आतंकवादी डेविड हेडली ने अलकायदा आतंकवादी इलियास कश्मीरी और तीन भारतीय आतंकवादियों अबु जंदल, जबीउल्ला और फहीम अंसारी के साथ मुंबई हमले की साजिश रची थी। मलिक ने कल दावा किया था कि जंदल भारतीय खुफिया एजेंसियों का एक एजेंट था।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड