शुक्रवार, 31 अक्टूबर, 2014 | 00:27 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    नौकरानी की हत्या: धनंजय को जमानत, जागृति के रिकार्ड मांगे अमर सिंह के समाजवादी पार्टी में प्रवेश पर उठेगा पर्दा योगी आदित्य नाथ ने दी उमा भारती को चुनौती देश में मौजूद कालेधन पर रखें नजर : अरुण जेटली शिक्षा को लेकर मोदी सरकार पर आरएसएस का दबाव कोयला घोटाला: सीबीआई को और जांच की अनुमति सिख दंगा पीड़ितों के परिजनों को पांच लाख देगा केंद्र अपमान से आहत शिवसेना ने किया फडणवीस के शपथ ग्रहण का बहिष्कार सरकार का कटौती अभियान शुरू, प्रथम श्रेणी यात्रा पर प्रतिबंध बेटे की दस्तारबंदी के लिए बुखारी का शरीफ को न्यौता, मोदी को नहीं
भारत-पाकिस्तान ने की विश्वास निर्माण उपायों की समीक्षा
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:27-12-12 10:40 PM

भारत और पाकिस्तान ने गुरुवार को परम्परागत विश्वास निर्माण उपायों (सीबीएम) के कार्यान्वयन की समीक्षा की और इसे मजबूती देने के लिए विभिन्न स्तरों पर वार्ता जारी रखने का फैसला लिया।

भारत और पाकिस्तान के बीच परम्परागत विश्वास निर्माण उपायों पर यहां विशेषज्ञ स्तर की वार्ता हुई। वार्ता के दौरान भारतीय शिष्टमंडल का नेतृत्व विदेश मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव (पाकिस्तान-अफगानिस्तान-ईरान मामले) वाई.के. सिन्हा ने किया और पाकिस्तान का नेतृत्व वहां के विदेश मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव (संयुक्त राष्ट्र एवं यूरोपीय देशों के मामले) ने किया।

वार्ता के बाद एक संयुक्त बयान में कहा गया, ''वार्ता सौहार्दपूर्ण एवं रचनात्मक माहौल में हुई।''

बयान में कहा गया, ''दोनों पक्षों ने नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर युद्धविराम सहित मौजूदा सीबीएम के कार्यान्वयन की समीक्षा की तथा परम्परागत विश्वास निर्माण प्रक्रिया को आगे बढ़ाने की दिशा में विचारों का आदान-प्रदान किया और परम्परागत सीबीएम को सुदृढ़ करने के लक्ष्य के साथ चर्चा जारी रखने की अपनी प्रतिबद्धता दोहराई।''

दोनों पक्ष इस वार्ता के दौरान हुई प्रगति की रिपोर्ट अब सम्बंधित विदेश सचिवों को देंगे।

परम्परागत सीबीएम पर यह द्विपक्षीय वार्ता आठ सितम्बर को इस्लामाबाद में दोनों देशों के विदेश मंत्रियों के बीच हुए समझौते के तहत आयोजित की गई।

दोनों पक्षों के बीच परमाणु के संदर्भ में विश्वास निर्माण उपायों पर वार्ता शुक्रवार को होगी।

 
 
 
टिप्पणियाँ