गुरुवार, 02 जुलाई, 2015 | 09:16 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    भूमि विधेयक पर एनडीए में दरार, शिवसेना और अकाली दल को आपत्ति भैंस और मुर्गियों के बाद अब यूपी पुलिस को है 'चुड़ैल' की तलाश यूपी: नौकरी का झांसा देकर छात्रा के साथ किया रेप, बनाया वीडियो ललित मोदी मामले में हुए इन नए खुलासों से कांग्रेस और बीजेपी दोनों परेशान, आईं आमने-सामने अब मोबाइल फोन से डायल हो सकेगा लैंडलाइन नंबर गोद से गिरी बच्ची, बचाने के लिए मां भी चलती ट्रेन से कूदी बलात्कार मामलों में कोई समझौता नहीं, औरत का शरीर उसके लिए मंदिर के समान होता है: सुप्रीम कोर्ट अब यूपी पुलिस 'चुड़ैल' को ढूंढेगी, जानिए क्या है पूरा मामला  खुलासा: एक रुपया तैयार करने का खर्च एक रुपये 14 पैसे दार्जिलिंग: भूस्‍खलन के कारण 38 लोगों की मौत, पीएम ने जताया शोक, 2-2 लाख रुपये मुआवजे का ऐलान
संयुक्त राष्ट्र में भारत का विरोध नहीं करेगा चीन
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:28-11-12 07:31 PMLast Updated:28-11-12 08:50 PM
Image Loading

भारत के साथ सहयोगात्मक सम्बंध की इच्छा जताते हुए चीन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को कहा कि उनका देश संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की स्थाई सदस्यता के लिए भारत के प्रयास का विरोध नहीं करेगा। चीन की ऐसी कोई नीति नहीं है।

कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना के अंतर्राष्ट्रीय विभाग में रिसर्च कार्यालय के महानिदेशक हुआंग हुआगुआंग ने थिंक टैंक ऑब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन में एक परिचर्चा में कहा, ‘हम संयुक्त राष्ट्र में भारत की अधिक सकारात्मक और महत्वपूर्ण भूमिका का स्वागत करते हैं।’

हुआंग ने कहा, ‘हमारी नीति संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की स्थाई सदस्यता के लिए भारत के प्रयासों का विरोध करने की नहीं है।’ उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सुधार के लिए जारी वार्ता अराजकतापूर्ण है और इसका समन्वय बेहतर तरीके से किया जाना चाहिए।

हुआंग चीन के उस प्रतिनिधिमंडल में शामिल हैं, जो इन दिनों भारत के दौरे पर है। उनका उद्देश्य चीन में अगले साल होने वाले सत्ता परिवर्तन के बाद देश की अर्थव्यवस्था तथा विदेश नीति के रुझानों के बारे में भारतीय नेतृत्व और नीति-निर्माताओं को जानकारी देना है।

 

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड