बुधवार, 01 जुलाई, 2015 | 02:52 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    'मेंढक' को है आपकी दुआओं की जरूरत, कोमा में है आपका चहेता किरदार सुनंदा पुष्कर केस में शशि थरूर का लाइ डिटेक्टर टेस्ट कराने की तैयारी में जुटी पुलिस शर्मनाक: सीरिया में आईएस ने दो महिलाओं का सिर कलम किया उपचुनाव में रिकॉर्ड डेढ लाख वोटों के अंतर से जीतीं जयलिलता, सभी विरोधी उम्मीदवारों की जमानत जब्त धौलपुर महल विवाद: कांग्रेस ने राजे के खिलाफ नए सबूत पेश किए, भाजपा बोली, छवि बिगाड़ने की साजिश ट्विटर पर जॉन ने खोली 'वेलकम बैक' की रिलीज़ डेट, आप भी जानिए बांग्लादेश में उड़ा टीम इंडिया का मजाक, इन क्रिकेटरों को दिखाया आधा गंजा गांगुली ने टीम इंडिया में हरभजन की वापसी का किया स्वागत रोहित समय के पाबंद हैं, उनके साथ काम करना मुश्किल: शाहरूख खान तेंदुलकर ने अजिंक्य रहाणे को दीं शुभकामनाएं
पुलिस की सुस्ती पर प्रतिक्रिया से शिंदे का इनकार
सूरत, एजेंसी First Published:05-01-13 06:44 PM

गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे ने दिल्ली सामूहिक बलात्कार पीड़िता के दोस्त के आरोप पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया, हालांकि उन्होंने कहा कि वह तथ्यों को जानने के बाद ही टिप्पणी करेंगे।

दरअसल, पीड़िता के दोस्त ने मीडिया में आरोप लगाया है कि संकट के दौरान पुलिस ने प्रतिक्रिया करने में सुस्ती दिखाई। उन्होंने यहां संवाददाताओं को बताया कि मैं इस मुद्दे पर टिप्पणी नहीं करना चाहता। इस पर विस्तृत रिपोर्ट मिलने के बाद ही मैं टिप्पणी करूंगा।

गौरतलब है कि पीड़िता के दोस्त ने आरोप लगाया है कि घटना के बाद जब बस से उन्हें फेंक दिया गया था, तब दिल्ली पुलिस ने हरकत में आने में सुस्ती दिखाई। पुलिस को इस घटना के बारे में सूचना मिलने पर उसके शीघ्रता से हरकत में आने के दावो के उलट पीड़िता के दोस्त ने कहा है कि करीब 45 मिनट के बाद पुलिस की तीन पीसीआर वैन पहुंची और उन्होंने इस बारे में फैसला करने में वक्त बर्बाद किया कि यह मामला किस पुलिस थाने के दायरे में आएगा।

 
 
 
अन्य खबरें
 
 
 
 
 
 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड