सोमवार, 03 अगस्त, 2015 | 08:23 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    पाकिस्तान ने फिर किया संघर्षविराम का उल्लंघन, कई चौकियों को निशाना बनाया याकूब मेमन के साथ हमदर्दी जताना राष्ट्र के लिये नुकसानदेह है: वेंकैया नायडू झारखंड की शिक्षा मंत्री की शिक्षा का जवाब नहीं, अब बिहार को बताया पड़ोसी देश पाकिस्तान ने 163 भारतीय मछुआरों को रिहा किया  हम टीचर्स की इज्जत करतें हैं, आपलोगों को नहीं मारेंगे: आईएस आतंकी  पीएम मोदी की गया रैली में प्रयोग होगा एसपीजी की 'ब्लू बुक' अलर्ट, जानिये क्या है 'ब्लू बुक'... लालू ने भरी हुंकार, कहा शोषितों की आजादी की दूसरी लड़ाई लड़ रहा राजद कांगेस ने साधा धूमल और अनुराग ठाकुर पर निशाना  LIVE VIDEO: हरिद्वार में चालक ने पुलिस पर चढ़ाई कार, आरोपी गिरफ्तार राष्ट्रपति शासन में हो बिहार का चुनाव: पासवान
जयललिता का आरोप गलत: केन्द्र सरकार
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:27-12-2012 02:38:25 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

केन्द्र ने तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता के इस आरोप को गलत बताया कि आज यहां शुरू हुई राष्ट्रीय विकास परिषद की बैठक में गैर कांग्रेस शासित राज्यों के साथ भेदभाव किया जा रहा है। उसने कहा कि किसी नेता को इस आयोजन का राजनीतिक इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
   
संसदीय मामलों के राज्य मंत्री राजीव शुक्ल ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अपने भाषण के तुरंत बाद जयललिता को पहले भाषण देने का अवसर देकर सकारात्मक भावना का परिचय दिया, जबकि क्रम के अनुसार उनकी बारी काफी बाद में आनी थी। हर मुख्यमंत्री को दस मिनट का समय दिया गया था।
   
मुख्यमंत्रियों के भाषणों की समय सीमा तय किए जाने को सही बताते हुए उन्होंने कहा कि वक्ताओं की संख्या बहुत अधिक होने के कारण ऐसा करना पड़ा। बैठक में 35 मुख्यमंत्रियों, योजना आयोग के उपाध्यक्ष, वित्त मंत्री और कृषि मंत्री के भाषण होने हैं।
   
शुक्ल ने कहा कि कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के लिए भी यह समय सीमा तय की गई। इसमें किसी राज्य के मुख्यमंत्री के साथ भेदभाव नहीं किया गया।
   
उन्होंने कहा कि दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के भाषण के दौरान भी 10 मिनट पूरा होने पर घंटी बजा कर उन्हें रोका गया। तो भेदभाव कहां हुआ नेताओं को इस अवसर का राजनीति लाभ नहीं उठाना चाहिए।
   
इससे पहले जयललिता ने परिषद की बैठक से यह कह कर आज वाकआउट कर दिया कि भाषणों की 10 मिनट की समय सीमा तय करके केन्द्र गैर कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों की आवाज दबा रहा है। उन्होंने कहा कि परिषद की बैठक में उन्हें टोक कर उनके भाषण को बीच में रोकना उनका बड़ा अपमान है।
   
उन्होंने कहा कि 10 मिनट की समय सीमा लागू करके केन्द्र ने मुख्यमंत्रियों को उनकी बात नहीं रखने देने का नया तरीका इजाद किया है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image LoadingMCA ने शाहरुख के वानखेड़े स्टेडियम में प्रवेश करने से बैन हटाया
मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन ने अभिनेता शाहरुख खान पर वानखेड़े स्टेडियम में घुसने पर लगा प्रतिबंध हटा लिया है। एमसीए के उपाध्यक्ष आशीष शेलार के मुताबिक एमसीए ने यह फैसला रविवार को हुई मैनेजिंग कमेटी की बैठक में लिया है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब बीमार पड़ा संता...
जीतो बीमार पति से: जानवर के डॉक्टर को मिलो तब आराम मिलेगा!
संता: वो क्यों?
जीतो: रोज़ सुबह मुर्गे की तरह जल्दी उठ जाते हो, घोड़े की तरह भाग के ऑफिस जाते हो, गधे की तरह दिनभर काम करते हो, घर आकर परिवार पर कुत्ते की तरह भोंकते हो, और रात को खाकर भैंस की तरह सो जाते हो, बेचारा इंसानों का डॉक्टर आपका क्या इलाज करेगा?