शुक्रवार, 29 मई, 2015 | 07:39 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    गुर्जरों को मिलेगा 5 फीसदी आरक्षण, सरकार लाएगी विधेयक राहुल पर राम का पलटवार, कहा चार पीढ़ियां आरएसएस को नहीं रोक पाई मोदी ने मनमोहन से लिया था एक घंटे इकॉनोमी का ज्ञानः राहुल लोकलुभावन रास्ते की बजाय अधिक कठिन मार्ग चुना :मोदी CBSE 10th रिजल्ट: 94,447 छात्रों को मिला 10 सीजीपीए सोनिया की मौजूदगी में हुई बैठक, पास हुआ मोदी के खिलाफ निंदा प्रस्ताव जेट एयरवेज की टिकटों पर 25 प्रतिशत छूट की पेशकश रायबरेली पहुंची सोनिया गांधी व्यापम घोटाला: अब तक जांच से जुड़े 40 लोगों की मौत त्रिपुरा सरकार ने राज्य में 18 सालों से लगा अफस्पा हटाया
राज्यों को कोयला खानों की करनी होगी निगरानी: सरकार
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:27-11-12 02:40 PM
Image Loading

सरकार ने कहा है कि जिन राज्यों में कोयला खानों का आवंटन किया जा रहा है, उन्हें खदानों की नियमित निगरानी के लिए व्यवस्था तैयार करनी होगी और उसके विकास के बारे में तिमाही आधार पर रिपोर्ट सौंपनी होगी।

सरकारी ज्ञापन के अनुसार, संबंधित राज्य सरकार को नियमित तौर पर भौतिक रूप से निगरानी समेत ऐसी व्यवस्था बनानी होगी, जिससे कोयला खानों के विकास की निगरानी नियमित तौर पर हो सके। साथ ही वे इस बारे में तिमाही आधार पर कोयला मंत्रालय या उसके द्वारा अधिकत एजेंसही को रिपोर्ट सौपेंगी।

यह मंत्रालय की निगरानी के अलावा होगा। ज्ञापन में कोयला खानों के आवंट से जुड़ी नियम एवं शतो का जिक्र किया गया है। इस कदम का उद्देश्य उन कंपनियों पर लगाम लगाना है, जिन्हें निजी उपयोग के लिए कोयला खान दिया गया, लेकिन उन्होंने उसका समय पर विकास नहीं किया।

सोमवार को जारी आधिकारिक बयान के अनुसार अबतक सरकार ने विभिन्न सार्वजनिक एवं निजी क्षेत्र की कंपनियों को खुद के उपयोग के लिए 218 कोयला खानों का आवंटन किया है। इनमें से केवल 30 खानों से उत्पादन शुरू हुआ है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
Image Loadingमूडी, पोटिंग, फ्लेमिंग या विटोरी हो सकते हैं टीम इंडिया के नए कोच
भारतीय टीम के पूर्व कोच डंकन फ्लेचर का कार्यकाल खत्म हो चुका है और बीसीसीआई अब एक नए कोच की तलाश में जुटी हुई है। टीम इंडिया का कोच बनना एक बड़ी चुनौती होती है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड