शुक्रवार, 31 जुलाई, 2015 | 06:32 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    ना 'पाक' हरकतों से नहीं बाज आ रहा है पाकिस्तान, फिर किया सीजफायर का उल्लंघन, 1 जवान शहीद देश में केवल 17 व्यक्तियों पर 2.14 लाख करोड़ का कर बकाया  2022 तक आबादी में चीन को पीछे छोड़ देगा भारत  झारखंड में दिसंबर तक होगी 40 हजार शिक्षकों की नियुक्तियां महिन्द्रा सितंबर में पेश करेगी एसयूवी टीयूवी-300  नेपाल: भारी बारिश के बाद भूस्खलन, 13 महिलाओं समेत 33 की मौत, 20 से अधिक लापता पेट्रोल-डीजल के दामों में हो सकती है कटौती, 1 रुपये 50 पैसे तक घट सकते हैं दाम नागपुर की सेंट्रल जेल में 1984 के बाद पहली बार दी गई फांसी पढ़ें 1993 में हुए सीरियल बम ब्लास्ट से अब तक का घटनाक्रम निर्दोषों को आतंकी कहा जा रहा है, मैं धमाकों का जिम्मेदार नहीं: याकूब
स्वास्थ्य मंत्री का बयान, सिंगापुर में पीड़िता की हालत स्थिर
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:27-12-2012 12:52:49 PMLast Updated:27-12-2012 02:57:40 PM

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता की हालत सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ अस्पताल में स्थिर है। पीड़िता को बुधवार देर रात इलाज के लिए सिंगापुर भेज दिया गया था।

आजाद ने गुरुवार को कहा कि लड़की सुबह 5.30 बजे सिंगापुर पहुंची है। एक घंटे बाद मुझे जो रिपोर्ट मिली है उसके अनुसार पीड़िता को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है और उसकी हालत स्थिर है।

अधिकारियों ने बताया कि पीड़िता की लगातार बिगड़ती हालत को देखते हुए उसे सिंगापुर भेजने का फैसला किया गया है। पीड़ित युवती के साथ उसके परिजन भी थे।

अस्पताल के प्रवक्ता ने बताया कि मरीज अत्यंत चिंताजनक हालत में माउंट एलिजाबेथ अस्पताल के गहन चिकित्सा कक्ष में सुबह 9.05 बजे भर्ती हुई। युवती की जांच की जा रही है और अस्पताल भारतीय उच्चायोग के सम्पर्क में है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार युवती डॉ. यतिन गुप्ता के नेतृत्व में भारतीय चिकित्सकों के दल एवं परिजनों के साथ सुबह दो बजे सिंगापुर पहुंची।

16 दिसम्बर को चलती बस में सामूहिक दुष्कर्म के बाद दरिंदगी की शिकार युवती को इलाज के लिए सफदरजंग अस्पताल से सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ अस्पताल में स्थानांतरित किया गया है। यह अस्पताल अंग प्रत्यारोपण के लिए प्रसिद्ध है।

भारतीय उच्चायोग ने एक बयान में कहा कि लड़की को अस्पताल में पूरी चिकित्सीय देखभाल मिल रही है। बयान में कहा गया, हम सभी चिंतित लोगों को यह भरोसा दिलाना चाहते हैं कि मरीज की पूरी चिकित्सीय देखभाल की जा रही है और उच्चायोग उसके परिवार को भी हर संभव मदद दे रहा है।
   
उच्चायोग ने साथ ही मरीज और उसके परिवार की निजता का सम्मान करने का अनुरोध किया। बयान के अनुसार, बहुत सारे लोग मरीज की हालत के बारे में पूछताछ कर रहे हैं और कई लोगों ने मदद की भी पेशकश की है। हम मदद की पेशकश करने वाले लोगों के तहे दिल से शुक्रगुजार हैं।
   
इस समय हम मरीज, उसके परिवार के सदस्यों और साथ ही मौजूद चिकित्सा दल की निजता का सम्मान करने का अनुरोध करेंगे, ताकि इलाज आसानी से जारी रहे।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingपे टीएम ने बीसीसीआई से 2019 तक प्रायोजन अधिकार खरीदे
पे टीएम के मालिक वन97 कम्युनिकेशंस ने आज भारत में अगले चार साल तक होने वाले घरेलू और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैचों के अधिकार 203.28 करोड़ रूप में खरीद लिए।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड