सोमवार, 03 अगस्त, 2015 | 10:08 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    सावन के पहले सोमवार मंदिरों में उमड़ी भारी भीड़, जयघोष से गूंजे शिवाले मंगल गृह की परिक्रमा में ट्रैफिक जाम से बचने के लिए काम कर रहा है नासा बिहार: जेडीयू के टिकट पर चुनाव लड़ सकती हैं शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम पाकिस्तान ने फिर किया संघर्षविराम का उल्लंघन, कई चौकियों को निशाना बनाया याकूब मेमन के साथ हमदर्दी जताना राष्ट्र के लिये नुकसानदेह है: वेंकैया नायडू झारखंड की शिक्षा मंत्री की शिक्षा का जवाब नहीं, अब बिहार को बताया पड़ोसी देश पाकिस्तान ने 163 भारतीय मछुआरों को रिहा किया  हम टीचर्स की इज्जत करतें हैं, आपलोगों को नहीं मारेंगे: आईएस आतंकी  पीएम मोदी की गया रैली में प्रयोग होगा एसपीजी की 'ब्लू बुक' अलर्ट, जानिये क्या है 'ब्लू बुक'... लालू ने भरी हुंकार, कहा शोषितों की आजादी की दूसरी लड़ाई लड़ रहा राजद
पीड़िता का शरीर लेकर विशेष विमान भारत के लिए रवाना
सिंगापुर, एजेंसी First Published:29-12-2012 11:32:52 PMLast Updated:30-12-2012 10:43:56 AM
Image Loading

एक विशेष विमान दिल्ली सामूहिक बलात्कार पीड़ित का पार्थिव शरीर लेकर आधी रात के बाद नई दिल्ली के लिए रवाना हो गया है। पीड़ित ने शनिवार तड़के सिंगापुर के एक सुपर स्पेशियेलिटी हॉस्पिटल में दम तोड़ दिया था। भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों ने बताया कि एयर इंडिया के चार्टर्ड विमान एआईसी 380 ए ने स्थानीय समय के अनुसार रात्रि साढ़े बारह बजे (भारतीय समयानुसार रात दस बजे) उड़ान भरी।

दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल से इस युवती को 27 दिसंबर को यहां लाया गया था और उसने स्थानीय समयानुसार आज तड़के पौने पांच बजे (भारतीय समयानुसार आधी रात के बाद दो बजकर 15 मिनट पर) सिंगापुर के माउंट ऐलिजाबेथ अस्पताल में अंतिम सांस ली। भारत सरकार द्वारा भेजे गए चार्टर्ड विमान में उसके परिवार के सदस्य भी सवार हैं। पीड़िता के परिवार के सदस्य उसे यहां बेहद नाजुक हालत में भर्ती कराए जाने के समय से ही सिंगापुर में थे।

सफदरजंग अस्पताल में भर्ती रहने के दौरान पीड़िता के तीन ऑपरेशन किए गए। 16 दिसंबर की रात को उसके साथ दक्षिणी दिल्ली इलाके में एक चलती बस में बेहद नृशंस तरीके से सामूहिक बलात्कार किया गया था। इस हमले में उसके अंदरूनी अंग बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए थे। उसे इलाज के दौरान दिल का दौरा भी पड़ा था तथा उसके मस्तिष्क में भी चोट लगी थी।

सिंगापुर के अस्पताल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डा केल्विन लोह ने एक बयान में कहा कि हमें यह सूचित करते हुए बेहद दुख हो रहा है कि मरीज ने 29 दिसंबर 2012 को तड़के चार बजकर 45 मिनट पर (स्थानीय समयानुसार) शांतिपूर्ण तरीके से अंतिम सांस ली।

बयान में कहा गया है, भारतीय उच्चायोग के अधिकारी तथा उसके परिवार के सदस्य मरीज के पास थे। द माउंट ऐलिजाबेथ हास्पिटल की डाक्टरों की टीम, नर्स तथा अन्य स्टाफ इस शोक की घड़ी में पीड़ित के परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करता है। भारतीय उच्चायुक्त टीसीए राघवन ने संवाददाताओं को बताया कि पीड़ित युवती होशोहवास में थी और उसने आखिरी वक्त तक बड़ी बहादुरी से लड़ाई लड़ी। उन्होंने बताया कि अंतिम कुछ घंटे लड़की के परिवार वालों के लिए परीक्षा भरे थे और उन्होंने बड़ी हिम्मत और धैर्य के साथ पूरी प्रक्रिया का सामना किया।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image LoadingMCA ने शाहरुख के वानखेड़े स्टेडियम में प्रवेश करने से बैन हटाया
मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन ने अभिनेता शाहरुख खान पर वानखेड़े स्टेडियम में घुसने पर लगा प्रतिबंध हटा लिया है। एमसीए के उपाध्यक्ष आशीष शेलार के मुताबिक एमसीए ने यह फैसला रविवार को हुई मैनेजिंग कमेटी की बैठक में लिया है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब बीमार पड़ा संता...
जीतो बीमार पति से: जानवर के डॉक्टर को मिलो तब आराम मिलेगा!
संता: वो क्यों?
जीतो: रोज़ सुबह मुर्गे की तरह जल्दी उठ जाते हो, घोड़े की तरह भाग के ऑफिस जाते हो, गधे की तरह दिनभर काम करते हो, घर आकर परिवार पर कुत्ते की तरह भोंकते हो, और रात को खाकर भैंस की तरह सो जाते हो, बेचारा इंसानों का डॉक्टर आपका क्या इलाज करेगा?