शनिवार, 20 दिसम्बर, 2014 | 12:01 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
ब्रिस्बेन टेस्ट : दूसरा टेस्ट भी हारा भारतझारखंड: सुबह 11 बजे तक जामताड़ा-34, नाला-35, बोरियो-33, राजमहल-33, बरहेट-40, पाकुड़-41, लिट्टीपाड़ा-40, महेशपुर-39, दुमका-31, जामा-33, जरमुंडी-37, शिकारीपाड़ा-35, सारठ-39, पोड़ैयाहाट-37, गोड्डा-28, महगामा-35 प्रतिशत मतदान हुआझारखंड: गोड्डा के बूथ-315,316 पर भजपा प्रत्याशी के बेटा पर मारपीट करने का आरोप, आधे घंटे बाधित हुआ मतदानझारखंड: लिट्टीपाड़ा बूथ नं 32 धूप निकलने के साथ निकले मतदाता, मतदान केंद्र से सड़क तक लगी लंबी लाइनझारखंड: चित्र आदर्श बूथ पर विधानसभा अध्यक्ष शशांक शेखर के परिजनों ने डाला वोटझारखंड : भाजपा प्रत्याशी लुइस मरांडी ने दुमका में बूथ-68 पर झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकर्ताओं पर पैसा बांटने का आरोप लगाया, प्रशासन से की शिकायत, एसडीओ ने थानेदार को तत्काल जांच करने भेजाजम्मू-कश्मीर: राज्य की 87 सदस्यीय विधानसभा में नेकां के 28, पीडीपी के 21, कांग्रेस के 17 और भाजपा के 11 विधायक हैं।जम्मू-कश्मीर: पिछले चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने इन 20 में से 11, कांग्रेस ने पांच और नेशनल कांफ्रेंस (नेकां) ने तीन सीटों पर जीत हासिल की थी। पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) एक सीट पर ही सिमट कर रह गई थी।झारखंड : बोरियो विस क्षेत्र के बूथ नंबर 67 पर चुनाव को लेकर बढ़ी चौकसीझारखंड: लिट्टीपाड़ा के फतेहपुर गांव की महिलाओं को उम्मीद कि नई सरकार पेयजल की समस्या हल करेगीदुमका विधानसभा क्षेत्र के माहरो बूथ पर लगी लंबी कतार, दुमका सीट से मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन लड़ रहे हैंसाहिबगंज जिले के उधवा में मौसम भी मेहरबान रहा, सुबह धूप निकली, मतदाताओं में उत्‍साहजम्मू के डिवीजनल कमिश्नर अजित कुमार साहू का कहना है कि मतदाताओं में जबरदस्त उत्साह देखने को मिल रहा है। ठंड के बावजूद बड़ी संख्या में लोग वोट डालने आ रहे हैं। साहू ने कहा कि हमने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं और कहीं से भी हिंसा की कोई खबर नहीं है।राजौरी में मतदान करने के बाद एक वोटर ने कहा कि लोगों में मतदान को लेकर उत्साह है और सभी जगह शांतिपूर्ण तरीके से मतदान चल रहा है।शुक्रवार की रात नौशेरा में पीडीपी कार्यकर्ताओं के हमले में घायल भाजपा प्रत्याशी रविंद्र रैना को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।यूपी: अमरोहा के चौधरपुर गांव में युवक की गला घोंट कर हत्या, सुबह घर के बाहर मिला शव, पुलिस पूछताछ में जुटीदुमका के कुछ वोटरों से हिन्दुस्तान ने बातचीत कर जानना चाहा कि उनकी वोटिंग का आधार क्या है? 35 साल के सत्येंद्र सिंह का कहना है स्थायी सरकार मुद्दा है, तो 42 साल के जवाहर लाल का कहना है कि शिक्षा के क्षेत्र में विकास है मुद्दा।झारखंड: सुबह 9 बजे तक जामताड़ा-13, नाला-11, बोरियो-20, राजमहल-18, बरहेट-11, पाकुड़-16, लिट्टीपाड़ा-16, महेशपुर-18,दुमका-11, जामा-14, जरमुंडी-12, शिकारीपाड़ा-14, सारठ-14, पोड़ैयाहाट-11, गोड्डा-12, महगामा-10 प्रतिशत मतदान हुआझारखंड: पाकुड़ जिले के लिट्टीपाड़ा विस क्षेत्र में बूथ-134 में बुनियादी सुविधाओं की मांग को लेकर हुआ बहिष्कार, 9 बजे फिर शुरू हुआ मतदानझारखंड : बोरियो के बूथ नं 208 में एक घंटे में 124 वोट पड़े
किले में तब्दील हुआ दिल्ली का दिल, पुलिस बल तैनात
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:24-12-12 01:07 PMLast Updated:24-12-12 02:29 PM

दिल्ली के दिल ने आज तब एक किले की शक्ल ले ली, जब इंडिया गेट और रायसीना हिल के आस-पास के इलाकों पर प्रदर्शनों को रोकने के लिये भारी पुलिस बल तैनात किया गया। हालांकि इस व्यवस्था के कारण रोज सफर करने वाले यात्रियों को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। 
    
दफ्तर जाने वाले कर्मचारियों और कॉलेज जाने वाले छात्र छात्राओं को भी सड़क मार्गों के बंद होने और नौ मेट्रो स्टेशनों के बंद होने के कारण परेशानी झेलनी पड़ी।
    
पिछले दो तीन दिन में हुये घटनाक्रम को देखते हुये प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की बैठक अब प्रधानमंत्री के रेसकोर्स स्थित आवास पर होगी। आमतौर पर ऐसी बैठकें हैदराबाद हाउस पर होती हैं, जो इन प्रदर्शनों का मुख्यस्थल बने इंडिया गेट के पास है।
   
पुलिस ने रफी मार्ग को बंद कर दिया और अशोक रोड, कॉपरनिकस मार्ग पर एक तरफ का मार्ग ही खोला गया। रफी मार्ग और रायसीना हिल पर बैरीकेडिंग के कारण आस पास के दफ्तरों में काम करने वाले लोगों को भी अपने अपने पहचान पत्र दिखाने पड़े।
   
इंडिया गेट, रायसीना हिल और अन्य स्थानों पर भी मीडियाकर्मियों को जाने से रोका गया। राजीव चौक समेत नौ मेट्रो स्टेशन को बंद किये जाने की घोषणा मध्यरात्रि को होने के कारण काफी लोगों को इस बारे में जानकारी नहीं हुयी और सुबह वह सुरक्षाकर्मियों से बहस करते हुये देखे गये।
    
कल भी राजीव चौक के अलावा आठ मेट्रो स्टेशनों को बंद रखा गया था, पर रविवार का दिन होने के कारण इसका प्रभाव देखने को नहीं मिला था। सप्ताह के पहले दिन दफ्तरों के खुलने के कारण सैंकड़ों यात्री जगह जगह फंसे देखे गये।
    
कुछ ऑटो चालकों ने इसका पूरा लाभ उठाया और अधिक किराया मांगने लगे। कनॉट प्लेस पर एक कंपनी में काम करने वाले संजय सूरी ने बताया कि मुझे उद्योग भवन से जंतर-मंतर आना पड़ा। क्योंकि रफी मार्ग बंद था, इसलिये मुझे मदर क्रीसेंट रोड से आना पड़ा। मात्र पांच छह किलोमीटर के इस सफर के लिये मुझे दो सौ रुपये खर्च करने पड़े, यही सफर मैं 40 रुपये में तय करता हूं।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड