बुधवार, 26 नवम्बर, 2014 | 09:28 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    प्रधानमंत्री ने 26/11 की छठवीं बरसी पर दी श्रद्धांजलि पीएम मोदी ने नेपाल संविधान को समय पर तैयार करने का आहवान किया झारखंड में पहले चरण में लगभग 62 फीसदी मतदान  जम्मू-कश्मीर में आतंक को वोटरों का मुंहतोड़ जवाब, रिकार्ड 70 फीसदी मतदान  राज्यसभा चुनाव: बीरेंद्र सिंह, सुरेश प्रभु ने पर्चा भरा डीडीए हाउसिंग योजना का ड्रॉ जारी, घर का सपना साकार अस्थिर सरकारों ने किया झारखंड का बेड़ा गर्क: मोदी नेपाल में आज से शुरू होगा दक्षेस शिखर सम्मेलन  दक्षिण एशिया में शांति, विकास के लिए सहयोग करेगा भारत काले धन पर तृणमूल का संसद परिसर में धरना प्रदर्शन
अरुणा चड्ढा की जमानत याचिका पर HC ने मांगी दिल्ली पुलिस की प्रतिक्रिया
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:30-11-12 01:38 PM
Image Loading

दिल्ली उच्च न्यायालय ने हरियाणा के पूर्व मंत्री गोपाल कांडा की कर्मचारी अरुणा चड्ढा की जमानत याचिका पर शुक्रवार को दिल्ली पुलिस से प्रतिक्रिया मांगी, जिसे कथित रूप से पूर्व विमान परिचारिका गीतिका शर्मा को आत्महत्या के लिए उकसाने के लिए गिरफ्तार किया गया था।
    
न्यायमूर्ति प्रतिभा रानी ने दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी करते हुए उसे तीन दिसम्बर तक जवाब दायर करने का निर्देश दिया। 40 वर्षीय अरुणा ने उसे जमानत देने से इनकार करने के सत्र न्यायालय के फैसले को चुनौती देते हुए कल उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था।
    
कांडा के साथ गीतिका को आत्महत्या के लिए उकसाने की आरोपी अरुणा ने इस आधार पर जमानत की मांग की है कि पुलिस इस मामले में पहले ही आरोपपत्र दायर कर चुकी है और उसके खिलाफ जांच पूरी हो चुकी है।
    
अरुणा ने इसके साथ ही इस आधार भी जमानत की मांग की है कि वह एकल अभिभावक है और उसकी एक पुत्री और बूढ़े माता-पिता है जिनकी उसे देखभाल करनी है।
    
23 वर्षीय गीतिका गत पांच अगस्त को पश्चिमोत्तर दिल्ली में अशोक विहार स्थित अपने आवास में मृत पायी गई थी। उसने अपने सुसाइड नोट में कहा कि वह अपना जीवन कांडा और अरुणा की प्रताड़ना के कारण समाप्त कर रही है। दोनों ने इस आरोप से इनकार किया है।
    
कांडा को 18 अगस्त को उस समय गिरफ्तार कर लिया गया था, जब उसने पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया था।

 
 
 
टिप्पणियाँ