शनिवार, 29 अगस्त, 2015 | 18:08 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
महाराष्ट्र पुलिस के प्रमुख संजीव दयाल ने कहा कि अगर यह साबित हुआ कि रायगढ़़ पुलिस के किसी अधिकारी ने शीना बोरा मामले की 2012 में हुई जांच में लीपा-पोती की है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।मुरादाबाद: चंदौसी रोड पर 12 साल के आमिर हमज़ा नाम के बच्चे की गर्दन चाइनीज़ मांझे से कटी, इलाज के दौरान बच्चे की मौत
सचिन के राज्यसभा नामांकन को चुनौती देने वाली याचिका खारिज
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:19-12-2012 01:14:46 PMLast Updated:19-12-2012 01:23:04 PM
Image Loading

दिल्ली उच्च न्यायालय ने क्रिकेट खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर के राज्यसभा के लिए नामांकन को चुनौती देने वाली एक जनहित याचिका को बुधवार को खारिज कर दिया।

मुख्य न्यायधीश न्यायमूर्ति डी. मुरुगेसन व न्यायमूर्ति राजीव एंडलॉ की खंडपीठ ने दिल्ली के एक पूर्व विधायक रामगोपाल सिंह सिसौदिया द्वारा दायर याचिका खारिज कर दी। याचिका में कहा गया था कि तेंदुलकर के पास 'विशेष ज्ञान व व्यवहारिक अनुभव' नहीं है जबकि संविधान के 80वें अनुच्छेद के मुताबिक इस तरह के नामांकन के लिए ऐसा होना आवश्यक है।

वैसे केंद्र सरकार ने न्यायालय को सूचित किया था कि तेंदुलकर का राज्यसभा के लिए नामांकन संवैधानिक प्रावधानों के मुताबिक हुआ है।

सरकार द्वारा दाखिल किए गए हलफनामे में कहा गया है कि केवल चार श्रेणियों (साहित्य, विज्ञान, कला व सामाजिक सेवा) में ही 'विशेष ज्ञान व व्यवहारिक अनुभव' का होना आवश्यक नहीं है, इसमें खेल, शिक्षा, कानून, इतिहास, अकादमिक उपलब्धियों, अर्थशास्त्र, पत्रकारिता, संसदीय प्रक्रियाओं, लोक प्रशासन, कृषि, खेल (कुश्ती) या मानव उद्यम के ऐसे ही अन्य क्षेत्रों को भी शामिल किया गया है।

सरकार ने 26 अप्रैल को तेंदुलकर को अभिनेत्री रेखा व उद्योगपति अनु आगा के साथ राज्यसभा के लिए नामांकित किया था।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingकोलंबो टेस्ट: पुजारा के शतक से संभला भारत
आठ महीने बाद टेस्ट क्रिकेट में वापसी कर रहे सलामी बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा के अनुशासित और धैर्यपूर्ण शतक और अमित मिश्रा के साथ उनकी रिकार्ड साझेदारी की मदद से भारत ने विषम परिस्थितियों से उबरते हुए श्रीलंका के खिलाफ तीसरे और अंतिम क्रिकेट टेस्ट के बारिश से प्रभावित दूसरे दिन पहली पारी में आठ विकेट पर 292 रन बनाए।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब संता के घर आए डाकू...
आधी रात को संता के घर डाकू आए।
संता को जगाकर पूछा: यह बताओ कि सोना कहां है?
संता (गुस्से से): इतना बड़ा घर है कहीं भी सो जाओ। इतनी छोटी बात के लिए मुझे क्यों जगाया!