रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 05:04 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
देश को महिलाओं के लिए सुरक्षित बनाया जाएगा: PM
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:29-12-12 09:48 AMLast Updated:29-12-12 12:11 PM
Image Loading

सामूहिक दुष्कर्म की पीड़िता की मौत पर गहरा दुख जताते हुए प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने शनिवार को कहा कि यह हम सब के ऊपर है कि हम उसकी मौत को व्यर्थ न जाने दें और देश को महिलाओं के लिए प्रामाणिक रूप से बेहतर और सुरक्षित स्थान बनाएं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि वह दुख की इस घड़ी में देश के साथ हैं। उन्होंने पीड़िता के परिवार व मित्रों के प्रति अपनी गहरी संवेदनाएं भी जताईं। उन्होंने कहा कि मैं उनसे व देश से कहना चाहता हूं कि वह लड़की जिंदगी की जंग भले ही हार गई हो, लेकिन अब यह हमारे ऊपर है कि हम यह सुनिश्चित करें कि उसकी मौत व्यर्थ न जाए।

प्रधानमंत्री ने अपने संदेश में कहा कि हम इस घटना से उपजी भावनाओं व ऊर्जा को पहले ही देख चुके हैं। युवा भारत और सही मायने में बदलाव की इच्छा रखने वाले देश की ओर से इस तरह की प्रतिक्रियाएं आना समझा जा सकता है।

उन्होंने कहा कि यदि हम इन भावनाओं और ऊर्जा का सकारात्मक कार्रवाई में इस्तेमाल कर सकें तो यह उस पीडिम्ता को सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

सिंह ने अपने वक्तव्य में कहा कि इस समय सामाजिक व्यवहार में आवश्यक महत्वपूर्ण बदलावों पर निष्पक्ष बहस व जांच की जरूरत है। सरकार इस तरह के अपराधों के लिए बने मौजूदा दंडात्मक प्रावधानों और महिलाओं की सुरक्षा बढ़ाने के उपायों का प्राथमिकता के आधार पर जांच कर रही है।

प्रधानमंत्री ने उम्मीद जताई कि पूरा राजनीतिक वर्ग व नागरिक समाज अपने संकीर्ण हितों को किनारे रखकर देश को महिलाओं के लिए प्रामाणिक रूप से एक बेहतर व सुरक्षित स्थान बनाने में मदद करेंगे।

उन्होंने कहा कि मैं पीड़िता की आत्मा के लिए शांति की प्रार्थना करता हूं और उम्मीद करता हूं कि उसके परिवार को इस दुख से उबरने की ताकत मिले।

 
 
 
 
टिप्पणियाँ