शनिवार, 29 अगस्त, 2015 | 22:27 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
झारखंडः गिरती ट्रेन देखने की चाहत में बच्चों ने खोल दी पटरियों की क्लिप।मुम्बई पुलिस ने शीना बोरा हत्याकांड में सभी तीनों आरोपियों का कॉल डाटा रिकार्ड मांगा है।शीना बोरा हत्या कांड में पुलिस कर रही है इंद्राणी मुखर्जी के बेटे मिखाइल बोरा से उपनगरीय बांद्रा के एक होटल में पूछताछ।हमें यदि 8 से 10 प्रतिशत आर्थिक वृद्धि हासिल करनी है तो धन की लागत को कम करना होगा: वित्त मंत्री अरुण जेटली।अटकी पड़ी परियोजनाओं में तेजी लानी है, ये मेक इन इंडिया कार्यक्रम की अगुवाई करेंगी: जेटली।
मुश्किल था पीड़िता का सदमे से उबरना
सिंगापुर, एजेंसी First Published:29-12-2012 02:51:22 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

दिल्ली में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार हुई लड़की की सिंगापुर के अस्पताल में मौत के बाद अस्पताल के एक अधिकारी ने कहा कि पीड़िता का सदमे से उबर पाना काफी मुश्किल था। उसने शनिवार तड़के दम तोड़ दिया।

पीडिम्ता (23 वर्ष) को गत गुरुवार दिल्ली से सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ अस्पताल लाया गया था और यहां आठ विशेषज्ञों की एक टीम उसकी जान बचाने की हर सम्भव कोशिश की। अस्पताल के अधिकारी ने कहा कि बीते दो दिनों से लड़की की हालत काफी खराब थी। 

समाचार पत्र 'स्ट्रेट्स टाइम्स' ने अस्पताल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी केल्विन लोह के हवाले से बताया कि शरीर और मस्तिष्क में गम्भीर चोटें लगने की वजह से पीडिम्ता के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था।

लोह ने कहा कि वह इतने लम्बे समय तक तकलीफों के बावजूद जीवन के लिए साहस से संघर्ष करती रही, लेकिन उसके लिए शरीर पर आई चोटों के सदमे से उबर पाना मुश्किल था। उन्होंने कहा कि हम लड़की के अंतिम संघर्ष के दौरान उसकी देखभाल की जिम्मेदारी सौंपे जाने के लिए आभारी हैं।

उन्होंने बताया कि हम लड़की के निधन पर गहरा शोक प्रकट करते हैं और इस दुख के समय में उसके परिवार को सम्भव मदद प्रदान करने के लिए भारतीय उच्चायोग के साथ मिलकर काम भी करेंगे। उन्होंने कहा कि अस्पताल लाए जाने के समय से ही पीड़िता की हालत बेहद गम्भीर थी।

ज्ञात हो कि गत 16 दिसम्बर को छह लोगों ने पीड़िता के साथ चलती बस में दुष्कर्म किया और 40 मिनट बाद उसे सड़क के किनारे छोड़ दिया था।

 

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingगावस्कर ने पुजारा की तारीफों के पुल बांधे
अपनी अच्छी तकनीक और शांत चित के कारण चेतेश्वर पुजारा क्रीज पर अपने पांव जमाने में माहिर हैं और पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने भी इस युवा बल्लेबाज की आज जमकर तारीफ की जिन्होंने अपने नाबाद शतक से भारत को संकट से उबारा।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब संता के घर आए डाकू...
आधी रात को संता के घर डाकू आए।
संता को जगाकर पूछा: यह बताओ कि सोना कहां है?
संता (गुस्से से): इतना बड़ा घर है कहीं भी सो जाओ। इतनी छोटी बात के लिए मुझे क्यों जगाया!