मंगलवार, 28 जुलाई, 2015 | 11:18 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
गृह मंत्री की अध्यक्षता में पंजाब के आतंकी हमलों को लेकर बैठक होगीDCW चेयरपर्सन के बतौर स्वाति मालीवाल ने लिया चार्जइंडोनेशिया के पूर्वी प्रांत पापुआ में आज 7.0 तीव्रता वाले भूकंप के जबरदस्त झटके महसूस किये गएसात दिवसीय राजकीय शोक की घोषणा लेकिन कोई छुट्टी नहीं12 बजे तक दिल्ली पहुंचेगा कलाम का पार्थिव शरीर, कल ले जाया जाएगा रामेश्वरम
'छात्रा की मौत से भारत में यौन हिंसा के मामले उजागर'
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:29-12-2012 02:06:07 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

ह्यूमन राइट्स वॉच ने कहा है कि सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता की मौत की घटना ने भारत में यौन हिंसा के मामलों की याद ताजा कर दी है।

ह्यूमन राइट्स वॉच दक्षिण एशिया की अध्यक्ष मीनाक्षी गांगुली ने कहा कि 23 वर्षीया पैरामेडिकल छात्रा की मौत से पहले एक 17 वर्षीय लड़की ने दुष्कर्म की शिकायत पर पुलिस के लापरवाह रवैये से तंग आकर आत्महत्या कर ली थी।

गांगुली ने कहा कि यह कोई अकेली घटना नहीं है। इन घटनाओं को देखते हुए कानून में व्यापक सुधार की आवश्यकता है। यौन उत्पीड़न को हर रूप में अपराध की श्रेणी में रखा जाना चाहिए। कानूनों के कार्यान्वयन और उत्तरदायित्व के लिए व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने की जरूरत है, ताकि पीड़िता को चुपचाप अत्याचार सहने को मजबूर न होना पड़े। और उसे अपमानित या दोषी न ठहराया जाए।

यह थोड़ा मुश्किल है लेकिन प्रभावी हल होगा कि यौन हिंसा के मामलों में पुलिस, डाक्टर, वकील और न्यायाधीश प्रक्रिया में सुधार की ओर ध्यान दें।

 

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड