बुधवार, 22 अक्टूबर, 2014 | 07:07 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
गैंगरेप पीड़िता की मौत पर पूरा देश शोकाकुल
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:29-12-12 01:48 PM
Image Loading

सामूहिक बलात्कार की शिकार 23 वर्षीय छात्रा की मौत पर राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री सहित आज देश का हर खासो आम शोकाकुल है।
     
राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने इस छात्रा को भारत की बहादुर बेटी करार देते हुए कहा कि इस जघन्य अपराध को अंजाम देने वालों के खिलाफ कार्रवाई के लिए सभी कदम उठाये जाएंगे। राष्ट्रपति ने अपने शोक संदेश में कहा कि वह एक बहादुर लड़की थी, जो अंतिम समय में भी अपने जीवन और सम्मान के लिए लड़ी। वह सच्ची नायिका है और भारतीय युवाओं एवं महिलाओं के उत्कृष्टता का प्रतीक है।
    
उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी ने कहा युवावस्था में उस लड़की के जाने से मुझे गहरा दुख है। उसे भारत की बेटी कहना ज्यादा बेहतर है।
     
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि पीड़िता की याद में सच्ची श्रद्धांजलि यही होगी कि उसके साथ हुए भयावह हादसे को लेकर युवाओं में उपजी भावनाएं और उर्जा रचनात्मक दिशा का रूख करें। पीड़िता की मौत पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए उन्होंने देशवासियों के साथ मिल कर उसके परिवार और मित्रों के प्रति संवेदना जताई है।
    
लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार ने कहा कि यह बहादुर लड़की महिलाओं के लिए न्याय सुनिश्चित करने और सामाजिक बदलाव के लिए जारी लड़ाई का शक्तिशाली प्रतीक बन गई है।
     
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी लड़की की मौत पर दुख जताया है। सोनिया से जुड़े सूत्रों ने बताया कि लड़की की दुखद मौत की जानकारी पा कर कांग्रेस अध्यक्ष सकते में हैं और बेहद गमतदा हैं। कांग्रेस अध्यक्ष ने पीड़िता के परिवार के प्रति गहरी संवेदना प्रकट की है।
     
केन्द्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिन्दे ने वायदा किया कि कानून को और कड़ा किया जाएगा, ताकि इस तरह की वारदात की पुनरावृत्ति को रोका जा सके। शिन्दे ने कहा कि 23 वर्षीय छात्रा को सच्ची श्रद्धांजलि यही होगी कि बलात्कार के दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिले।
     
दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने 23 साल की लड़की के साथ सामूहिक बलात्कार को बतौर प्रशासक अपने लिए शर्मनाक घटना करार देते हुए पीड़िता की मौत पर गहरे दुख का इजहार किया है। शीला ने लोगों से इसके साथ ही अपील की है कि वे शांति बनाए रखें। उन्होंने कहा कि इस तरह की वीभत्स घटना दोबारा नहीं हो, यह सुनिश्चित करना चाहिए।
     
राष्ट्रीय राजधानी में छात्र और आम जनता शांति मार्च निकाल रहे हैं। जंतर मंतर पर एकत्र प्रदर्शनकारियों ने छात्रा को श्रद्धांजलि दी।
     
प्रख्यात वकील राम जेठमलानी ने मांग की कि इस मामले में मुकदमा तेजी से चले और दोषियों को जल्द सजा दी जाए। राज्यसभा सांसद जेठमलानी ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि मुकदमा तेजी से होगा और इसका परिणाम दोषियों को तेजी से दंडित करने के रूप में देखने को मिलेगा। अंतत: न्याय होना चाहिए। मुकदमा दो महीने में समाप्त हो जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार को पिछले सप्ताह इंडिया गेट और विजय चौक पर एकत्र प्रदर्शनकारियों से सीधे संवाद करना चाहिए था।
     
लखनऊ में बसपा प्रमुख मायावती ने कहा कि सरकार को महिलाओं के खिलाफ अपराध से निपटने के लिए कडे से कडे कानून बनाने चाहिए। सभी राज्यों विशेषकर उत्तर प्रदेश को इस घटना को गंभीरता से लेना चाहिए।
     
केन्द्रीय मंत्री अजय माकन ने कहा कि हर कोई उम्मीद कर रहा था कि युवती की इच्छाशक्ति इतनी मजबूत है कि वह सभी प्रतिकूल स्थितियों से बाहर निकल आएगी।
     
कांग्रेस प्रवक्ता संदीप दीक्षित ने कहा कि दिल्ली की जनता को अपने गुस्से और दुख का इजहार करने के लिए सार्वजनिक स्थानों पर एकत्र होने का मौका दिया जाना चाहिए।
     
भाजपा नेता अरुण जेटली ने सामूहिक बलात्कार की शिकार 23 वर्षीय युवती के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए आज कहा कि कानूनों में संशोधन की आवश्यकता है। साथ ही कहा कि ऐसा माहौल बनाये जाने की जरूरत है, जहां महिलाएं समान रूप से सुरक्षित रह सकें। जेटली ने कहा कि हमारे सबके सिर आज शर्म से झुक जाने चाहिए कि एक युवती बर्बरता और दरिन्दगी का शिकार बनी। ऐसे माहौल की शिकार बनी, जो महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं है।
     
सामाजिक कार्यकर्ता एवं पूर्व आईपीएस अधिकारी किरन बेदी ने कहा कि हर पुलिसकर्मी को प्रार्थना करनी चाहिए और महिलाओं के खिलाफ अपराधों से निपटने में सामूहिक विफलता के लिए जनता से माफी मांगनी चाहिए।
    
आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि छात्रा की मौत हम सबके लिए शर्मिन्दगी और गहरे दुख की बात है। उन्होंने सवाल किया कि क्या हम उस छात्रा की मौत के लिए जिम्मेदार नहीं हैं, क्या हम ऐसा कुछ कर सकते हैं कि देश की आधी आबादी हमारे बीच सुरक्षित महसूस कर सके।
 
 
 
टिप्पणियाँ