शुक्रवार, 29 मई, 2015 | 13:46 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    26 लड़कियों से दुष्कर्म करने वाले टीचर को मौत की सजा रेडियोएक्टिव पदार्थ लीक होने से आईजीआई एअरपोर्ट पर अफरा तफरी स्पेलिंग बी प्रतियोगिता में फिर से भारतीयों का बोलबाला सरकारी नौकरी के मौके ही मौकेः 400 से ज्यादा दसवीं पास से लेकर इंजीनियर तक वैकेंसी 4.3 लाख साल पहले हुई थी पहली बार इंसान की हत्या VIDEO: देखिए जब सिख लड़के ने अंग्रेज छात्र को सिखाया सबक बिंद्रा ने रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया PM की आलोचना पर पाबंदी, लालू बोले ये दलितों का अपमान देशभर में कहीं बारिश कहीं लू, अब तक 1826 लोगों की मौत पलमेरा के रोमन थिएटर में आईएस का नरसंहार
आने-जाने वालों ने भी नहीं की पीड़िता की मदद...
बलिया, एजेंसी First Published:05-01-13 01:47 PM
Image Loading

दिल्ली सामूहिक बलात्कार कांड का शिकार हुई 23 वर्षीय लड़की के भाई ने कहा है कि यदि उसकी बहन को अस्पताल पहुंचाये जाने में विलंब न होता, तो उसकी जान बच सकती थी, मगर आते जाते लोगो ने कोई सहायता नहीं की।
     
मेडवार कला गांव में लड़की के भाई ने कहा कि मेरी बहन ने मुझे बताया था कि बस से सड़क पर फेंके के बाद उसने उधर से गुजरने वाले लोगो से मदद मांगी थी, मगर किसी ने उनकी सहायता नहीं की।
     
उन्होंने कहा कि उसे सहायता तब मिली जब हाईवे गश्ती पुलिस वाहन ने इस बारे में पुलिस को सूचित किया और उसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया। इस बीच दो घंटे गुजर गये और उसके शरीर से काफी रक्त बह गया, जिससे उसकी स्थिति बिगड़ती चली गयी।
     
लड़की के भाई ने उसके साथ हुई वारदात के बाद चले जनआंदोलन का उल्लेख करते हुए कहा कि अब जिस तरह की संवेदना दिखाई पड़ रही है, लोगो को उसी तरह अपने व्यवहार और सोच में भी बदलाव लाना होगा, ताकि कोई आदमी समय से सहायता के अभाव में न मर जाये।
     
उन्होंने नई दिल्ली में केन्द्र एवं राज्य सरकारों के प्रतिनिधियो के बीच हुई बातचीत में बलात्कार के मामले में मृत्यु दंड की सजा दिये जाने पर आम सहमति नहीं बन पाने पर अफसोस व्यक्त किया, मगर साथ ही यह भरोसा भी जताया कि दिल्ली पुलिस ने उसकी बहन के साथ कांड करने वाले दरिंदो के विएद्ध जैसा आरोप पत्र दाखिल किया है, उससे उन्हें फांसी की सजा निश्चित है।
     
उन्होंने बताया कि उनकी बहन को फिल्में देखने का शौक था और वह आमिर खान की फैन थी तथा परिवार के लोगों के साथ उसने जो अंतिम फिल्म देखी थी वह तलाश थी।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
Image Loadingमूडी, पोटिंग, फ्लेमिंग या विटोरी हो सकते हैं टीम इंडिया के नए कोच
भारतीय टीम के पूर्व कोच डंकन फ्लेचर का कार्यकाल खत्म हो चुका है और बीसीसीआई अब एक नए कोच की तलाश में जुटी हुई है। टीम इंडिया का कोच बनना एक बड़ी चुनौती होती है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड