शनिवार, 29 नवम्बर, 2014 | 12:45 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
बिजनौर: महिलाओं ने शराब के ठेकों पर ताले जड़ेवर्ष 2015 आम लोगों के नाम होगा। बड़ों की जगह निम्न वर्ग, निम्न मध्यम आय वर्ग व मध्यम वर्ग के लिए जारी होंगी कई आवासीय योजनाएं।सीबीआई ने खंगाले एनआरएचएम रिकार्डयूपी के हापुड़ में प्रेमी युगल की हत्यादिल्ली के कमला नगर में सिटी बैंक के एटीएम से डेढ़ करोड़ की लूटगार्ड को गोली मारकर हुई लूट, एटीएम में पैसे भरने आई थी गाड़ी
दिल्ली के सामूहिक बलात्कार कांड पर संसद में चर्चा
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:18-12-12 12:40 PMLast Updated:18-12-12 01:29 PM
Image Loading

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में अपराध की घटनाओं पर लगाम लगाने में विफल रहने के लिए केंद्र और राज्य सरकार को आड़े हाथों लेते हुए भाजपा ने मंगलवार को कहा कि बलात्कार के दोषी लोगों को फांसी देनी चाहिए।
   
मुख्य विपक्षी पार्टी ने इस विषय पर संसद के दोनों सदनों में प्रश्नकाल स्थगित करने का नोटिस दिया। विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज ने कहा कि यह गंभीर मुद्दा है, ऐसी घटनाएं बार बार हो रही है। हम इस मुद्दे को संसद में पूरी ताकत से उठायेंगे।
   
पार्टी प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि इस विषय में पार्टी के संसदीय बोर्ड की बैठक में यह निर्णय किया गया। प्रसाद ने संवाददाताओं से कहा कि हमारे कई सदस्यों ने संसद के दोनों सदनों में प्रश्नकाल स्थगित करने का नोटिस दिया है, वे इस बात से काफी उद्वेलित हैं।
   
उन्होंने कहा कि राजग के सहयोगी दलों की महिला सांसद संसद भवन परिसर मे इस विषय पर धरना देंगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली महिलाओं के खिलाफ अत्याचार का केंद्र हो गया है और पुलिस की ओर से कोई ठोस कार्रवाई नहीं हो रही है।
   
प्रसाद ने कहा कि भाजपा हैदराबाद-कर्नाटक क्षेत्र को विशेष दर्जा प्रदान करने के बारे में संविधान संशोधन विधेयक के गंभीर मुद्दे को भी लोकसभा में उठायेगी। हालांकि उन्होंने इसके बारे में विस्तार से नहीं बताया।

भाजपा सदस्य सैयद शाहनवाज हुसैन ने इस विषय को उठाते हुए कहा कि यह अत्यंत गंभीर विषय है, दिल्ली में कानून व्यवस्था समाप्त हो गई है। इस विषय पर हमने प्रश्नकाल स्थगित करने का नोटिस दिया है।
   
मीरा कुमार ने उद्वेलित सदस्यों को शांत करते हुए कहा कि यह गंभीर मामला है, जघन्य कृत्य है। इसे शून्य प्रहर में उठायें।
    
गौरतलब है कि दिल्ली में उत्तराखंड से ताल्लुक रखने वाली एक पैरा मेडिकल छात्रा के साथ बस में कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार किया गया और फिर उसे बाहर फेंक दिया गया।
    
दिल्ली में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर फिर से गंभीर सवाल खड़ा करने वाली यह घटना बीती रात दक्षिणी दिल्ली के महिपालपुर के निकट घटी। पीड़िता एवं उसके दोस्त की आरोपियों ने पिटाई की।
    
दोनों को एम्स ट्रामा सेंटर ले जाया गया। बाद में लड़की को सफदरजंग अस्पताल स्थानांतरित कर दिया गया। लड़की की हालत गंभीर बताई गई है।

 
 
 
टिप्पणियाँ