रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 01:12 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
मेरी बेटी को मत छीनो : पीड़िता की मां
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:30-12-12 10:26 PM

दिल्ली में दुष्कर्म की शिकार लड़की को जिस समय अंत्येष्टि के लिए ले जाया जा रहा था तब उसकी मां का क्रंदन पत्थर दिल को भी हिला गया। बिलखती हुई मां ने, ''मेरी बच्ची को मेरे पास रहने दो, उसे मुझसे दूर मत करो'' कहते हुए विलाप किया।

23 वर्षीया दिवंगत पीड़िता की मां दक्षिण पश्चिमी दिल्ली के महावीर विहार स्थित आवास में शव लाए जाने के बाद कई बार बेहोश हो गई। मां की खराब हालत को देखते हुए दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उनकी हालत स्थिर बताई गई है।

परिवार की पड़ोसन विमला ने बताया कि जैसे ही अंत्येष्टि के लिए शव को ले जाया जाने लगा पीड़िता की मां बेहोश हो गई। पड़ोसियों ने कहा कि शव पर लोट-लोट कर लगातार रोती मां कई बार बेहोश हुई।

सवेरे 6:15 बजे शव को जब एक एंबुलेंस में रखा जा रहा था तब मां ने रोते हुए गुजारिश की, ''मेरी बेटी को मत छुओ, और बेहोश हो गई।'' परिवार के सदस्यों और मित्रों ने होश में लाने के लिए चेहरे पर पानी के छींटे मारे। अचेत होने से पहले बार-बार दोहराती रही, ''मैं अपनी बेटी को अकेले नहीं छोड़ना चाहती, उसे मेरे पास रहने दो।''
 
 
 
टिप्पणियाँ