शनिवार, 31 जनवरी, 2015 | 15:34 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
मुरादाबाद के रेलवे माल गोदाम में मालगाड़ी के दो वैगन पटरी से उतरे। एडीआरएम ने दिए जांच के आदेश। वैगन सीमेंट की बोरियां से लदी थे।अमरोहा: जोया से संभल जा रही बस डब्ल्यूटीएम कालेज के पास पलटी। घायलों को जिला अस्पताल पहुंचाना शुरु। अब तक तीस घायल अस्पताल पहुंचे। ट्रक को ओवरटेक करते समय हुआ हादसा।ऑटोवालों की समस्या दूर करेंगे, नए स्टैंड बनाएंगे, हर साल किराए की समीक्षा करेंगे : केजरीवालव्यापारियों को मान-सम्मान मिलेगा, व्यापार करने की आजादी मिलेगी : केजरीवाल900 हेल्थ सेंटर खोलेंगे : केजरीवालदिल्ली को कारोबार का हब बनाएंगे : केजरीवालदिल्ली में वैट का रेट सबसे कम करेंगे, जिससे महंगाई कम होगी और टैक्स चोरी भी नहीं होगी : केजरीवालदिल्ली के गांवों को बसों और मेट्रो से जोड़ेंगे: केजरीवालसरकारी अस्पतालों का प्रशासन सुधारेंगे, डॉक्टरों को सम्मान और सुरक्षा देंगे: केजरीवालपांच साल में यमुना को खूबसूरत बनाएंगे, उद्योगों का कचरा डालना बंद करवाएंगे: केजरीवालपानी के लिए दूसरे राज्यों के आगे हाथ फैलाना बंद करेंगे: केजरीवाल5 साल में हर घर में पानी की पाइप लाइन पहुचाएंगे : केजरीवाल24 घंटे बिजली देंगे, आधे दाम पर देंगे : केजरीवालधीरे-धीरे दिल्ली को सोलर एनर्जी की ओर लेकर जाएंगे : केजरीवाल
मेरी बेटी को मत छीनो : पीड़िता की मां
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:30-12-12 10:26 PM

दिल्ली में दुष्कर्म की शिकार लड़की को जिस समय अंत्येष्टि के लिए ले जाया जा रहा था तब उसकी मां का क्रंदन पत्थर दिल को भी हिला गया। बिलखती हुई मां ने, ''मेरी बच्ची को मेरे पास रहने दो, उसे मुझसे दूर मत करो'' कहते हुए विलाप किया।

23 वर्षीया दिवंगत पीड़िता की मां दक्षिण पश्चिमी दिल्ली के महावीर विहार स्थित आवास में शव लाए जाने के बाद कई बार बेहोश हो गई। मां की खराब हालत को देखते हुए दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उनकी हालत स्थिर बताई गई है।

परिवार की पड़ोसन विमला ने बताया कि जैसे ही अंत्येष्टि के लिए शव को ले जाया जाने लगा पीड़िता की मां बेहोश हो गई। पड़ोसियों ने कहा कि शव पर लोट-लोट कर लगातार रोती मां कई बार बेहोश हुई।

सवेरे 6:15 बजे शव को जब एक एंबुलेंस में रखा जा रहा था तब मां ने रोते हुए गुजारिश की, ''मेरी बेटी को मत छुओ, और बेहोश हो गई।'' परिवार के सदस्यों और मित्रों ने होश में लाने के लिए चेहरे पर पानी के छींटे मारे। अचेत होने से पहले बार-बार दोहराती रही, ''मैं अपनी बेटी को अकेले नहीं छोड़ना चाहती, उसे मेरे पास रहने दो।''

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड