रविवार, 26 अप्रैल, 2015 | 11:51 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
विश्वकप में टीम की हार के बारे में गलत बातें कहीं गईं, हम पराजय के साथ भी सीखेंगे :मोदीसानिया और सायना ने देश का नाम रोशन किया :मोदीअफसोस है कि बेटियों तक शिक्षा पहुंची नहीं :मोदीभारत दुनिया के सुख के बारे में सोचता है और करता है : मोदीविदेश में यमन ऑपरेशन के लिए बधाई मिली, यमन से 48 देशों के नागरिकों को निकाला : मोदीभूकंप ने पूरी दुनिया को हिलाया, मन की बात करने का मन नहीं हो रहा है :मोदीनेपाल का दुख भारत का दुख : मोदीकोशिश रहेगी कि लोगों को जिंदा बचाएं, राहत का काम लंबे वक्त तक चलेगा : मोदीभारत सहायता के लिए नेपाल के साथ, हर नोपाली के आंसू पोछेंगे : मोदीमैंने कच्छ का भूकंप नजदीक से देखा : मोदीमोदी : प्राकृतिक आपदा का सिलसिला चल पड़ाप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात में कहा कि मैं कल्पना कर सकता हूं कि नेपाल में लोगों पर क्या बीत रही होगी।भारत के विभिन्न हिस्सों में भूकंप से जान गंवाने वाले लोगों के परिवार वालों को सरकार ने दो लाख रूपये की अनुग्रह राशि देने का ऐलान किया
दिल्ली में आत्मरक्षा के प्रशिक्षण के प्रति सजग हुईं महिलाएं
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:06-01-13 04:36 PM

दिल्ली में हुए सामूहिक दुष्कर्म की घटना के बाद राजधानी की हजारों महिलाएं जहां प्रदर्शन के लिए सड़कों पर उतर आईं, तो वहीं कई हमलावर को जवाब देने के लिए आत्मरक्षा से जुड़े प्रशिक्षण ले रही हैं।

रोहिणी स्थित '5 एलिमेंट स्कूल आफ आर्ट्स' के मार्शल आर्ट प्रशिक्षक शिव मक्कड़ ने आईएएनएस से कहा, ''सामूहिक दुष्कर्म की घटना के बाद कई महिलाओं ने आत्मरक्षा से जुड़ी कक्षाओं के लिए हमसे सम्पर्क साधा है।''

उनके मुताबिक उनके स्कूल ने इस घटना के बाद से दो कक्षाएं लेना शुरू किया है।

उन्होंने कहा, ''कई महिलाएं मार्शल आर्ट्स के साथ-साथ स्ट्रीट फाइटिंग का भी प्रशिक्षण लेना चाहती हैं।''

दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में आत्मरक्षा का प्रशिक्षण देने वाले और 'फिटकॉम' नाम की संस्था चलाने वाले सेवानिवृत कैप्टन जयप्रीत जोशी के मुताबिक इस हिंसक घटना के बाद उनसे कई महिलाओं और बच्चों के अभिभावकों ने सम्पर्क किया है।

जोशी ने कहा, ''अचानक से आत्मरक्षा के प्रशिक्षण लेने की लहर दौड़ गई है। यह तब होता है जब शहर में महिलाओं के खिलाफ कोई बड़ी वारदात होती है। हमारे पास 15 से 50 साल की उम्र की महिलाएं अपनी समस्या के साथ आ रही हैं।''

औद्योगिक संस्था एसोचैम द्वारा जारी एक हालिया रपट में यह बात सामने आई है कि रात में काम करने के डर से सूचना प्रौद्योगिकी कम्पनी और कॉल सेंटर में काम करने वाली महिलाओं की संख्या में 40 फीसदी गिरावट आई है और महिलाएं या तो अपने काम के घंटे कम कर रही हैं या फिर नौकरी छोड़ रही हैं।

हालांकि, जोशी का कहना है कि महिलाएं इस तरह की घटना सामने आने पर आवेश में आत्मरक्षा के प्रशिक्षण लेने लगती हैं लेकिन इसे बीच में ही छोड़ देती हैं जिसका कोई फायदा नहीं होता।

 
 
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
जरूर पढ़ें
Image Loadingआईपीएल : मुंबई इंडियंस, सनराइजर्स का मुकाबला आज
इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आठवें संस्करण के 23वें मुकाबले में शनिवार को वानखेड़े स्टेडियम में मुंबई इंडियंस और सनराइजर्स हैदराबाद की टीमें आमने-सामने होंगी।