शनिवार, 29 अगस्त, 2015 | 03:47 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
बस में छेड़छाड़ की शिकार नाबालिग लड़की से भाई ने किया था बलात्कार
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:31-12-2012 01:12:13 PMLast Updated:31-12-2012 02:17:14 PM
Image Loading

एक बस में छेड़छाड़ की शिकार नाबालिग लड़की के मामले में नये तथ्यों का खुलासा हुआ है। पुलिस ने छह महीने पहले पीड़ित से कथित रूप से बलात्कार और फिर यौन उत्पीड़न करने पर उसके किशोर भाई को गिरफ्तार किया है।
    
इस दर्दनाक तथ्य का खुलासा कल उस समय हुआ जब इस 16 साल की पीड़ित लड़की ने पुलिस के सामने बयान दर्ज कराए। उसकी शिकायत के बाद उसके भाई नजाकत अली (19) को गिरफ्तार किया गया।
    
परिवार द्वारा उत्पीडन की शिकार होकर घर छोड़ने वाली इस लड़की से शनिवार की रात को एक बस कंडक्टर ने कथित रूप से छेड़छाड़ की थी। इस मामले में आरोपी कंडक्टर रंजीत सिंह को गिरफ्तार किया जा चुका है। यह घटना ऐसे समय हुई है जबकि दक्षिण दिल्ली में चलती बस में बलात्कार की शिकार एक छात्रा के मामले को लेकर पूरे देश में गुस्सा है।
    
पुलिस पीड़ित लड़की का बयान दर्ज करने कल पश्चिम दिल्ली के ख्याला में उसके घर गई थी। इस दौरान लड़की ने पुलिस अधिकारियों को आपबीती सुनाई।
    
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि उसके पिता ने तीन बार शादी की और वह अब अपनी तीसरी पत्नी के साथ रहते हैं। लड़की ने दावा किया कि उसके परिवार में काफी समस्याएं हैं।
    
एक अधिकारी ने कहा कि उसने हमें यह भी बताया कि छह महीने पहले उसके भाई ने उसका बलात्कार किया था और उसके बाद उसका यौन उत्पीडन किया गया। हमने लड़के को गिरफ्तार कर लिया है।
    
शनिवार की रात को लड़की ने रात करीब साढे नौ बजे घर छोड़ दिया था और जब बस रात करीब 11 बजे मंडी हाउस पहुंची तो पुलिसकर्मियों ने महसूस किया कि बस में मौजूद अकेली लड़की रो रही है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingबारिश ने धोया पहले दिन का खेल, भारत 50/2
भारत और श्रीलंका के बीच तीसरे और आखिरी क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन शुक्रवार को बारिश के कारण दो सत्र से अधिक का खेल नहीं हो सका जबकि भारत ने पहली पारी में दो विकेट पर 50 रन बनाए।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब जय की हुई जमकर पिटाई...
वीरू (जय से): कल तुझे मेरे मोहल्ले के दस लड़कों ने बहुत बुरी तरह पीटा। फिर तूने क्या किया?
जय: मैंने उन सभी से कहा कि कि अगर हिम्मत है, तो अकेले-अकेले आओ।
वीरू: फिर क्या हुआ?
जय: होना क्या था, उसके बाद उन सबने एक-एक करके फिर से मुझे पीटा।