शनिवार, 25 अक्टूबर, 2014 | 04:35 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
एक और गिरफ्तारी, आरोपी ने अपने लिए मांगी फांसी
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:19-12-12 04:34 PMLast Updated:19-12-12 09:41 PM

पेरामेडिकल की एक छात्रा से सामूहिक बलात्कार को लेकर जनता में भारी गुस्से के बीच सरकार ने बुधवार को लोगों में विश्वास पैदा करने के लिए कुछ उपायों की घोषणा की है। इस बीच, बिहार से इस मामले के पांचवें आरोपी को हिरासत में लिया गया जबकि एक अन्य आरोपी ने कहा है मुझे फांसी दे दो।

रविवार की रात यहां एक चलती बस में 23 साल की लड़की से सामूहिक बलात्कार के मामले में स्वत: संज्ञान लेते हुए दिल्ली उच्च न्यायालय ने शहर की पुलिस को फटकार लगाते हुए कहा कि उसे इस अपराध का पता कैसे नहीं चला। उधर, सफदरजंग अस्पताल में भर्ती पीड़ित लड़की की हालत गंभीर बनी हुई है। इस मामले को लेकर जनता में रोष बढ़ने के बीच प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने आज घटना को बहुत विचलित करने वाला है।

उन्होंने गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे को निर्देश दिया कि यह सुनिश्चित किया जाए कि अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई हो और इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति नहीं हो। उन्होंने कहा कि यह जघन्य अपराध है। यह बहुत विचलित करने वाला है।

संसद में शिंदे ने कहा कि रंगीन शीशे और पर्दें वाली बसों पर तत्काल कार्रवाई की जाएगी। अगर वे ऐसा नहीं करते हैं तो उनकी सेवाएं तुरंत रोक दी जाएंगी। शिंदे ने राज्यसभा में कहा कि सभी बसों से दिल्ली में रात में चलते वक्त बत्तियां जलाये रखने के लिए कहा जाएगा और ये बसें चालकों के पास नहीं बल्कि मालिकों के पास खड़ी होनी चाहिए। पुलिस ने बिहार के औरंगाबाद से एक अन्य आरोपी अक्षय ठाकुर को हिरासत में लिया। उसे दिल्ली लाया जा रहा है।
 
 
 
टिप्पणियाँ