शुक्रवार, 28 अगस्त, 2015 | 02:54 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
शीना बोरा के इस्तीफे पर फर्जी साइनः राकेश मारिया।
दिल्ली में गैंगरेप के खिलाफ मनाया गया काला दिवस
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:03-01-2013 03:37:33 PMLast Updated:03-01-2013 06:23:33 PM
Image Loading

राष्ट्रीय राजधानी में पिछले माह हुए सामूहिक दुष्कर्म के मामले में आरोप-पत्र गुरुवार को दाखिल होने वाले हैं। इस बीच प्रदर्शनकारी कड़ी ठंड के बावजूद जंतर-मंतर पर डटे हुए हैं। गुरुवार को उन्होंने काला दिवस मनाया।

प्रदर्शनकारियों ने आरोप लगाया कि पुलिस इस मामले की जांच में जानबूझकर देरी कर रही है। एक प्रदर्शनकारी पुनीत बख्शी ने कहा कि पुलिस को जांच तेज करनी चाहिए।

जंतर-मंतर पर प्रदर्शनकारियों की संख्या हालांकि कम है, लेकिन उनका जज्बा बहुत मजबूत है। बीपीओ में कार्यरत बख्शी ने कहा कि हमारी संख्या पर मत जाइये, बल्कि हमारा जज्बा और दृढ़ता देखिये।

प्रदर्शनकारियों ने दुष्कर्मियों को मृत्युदंड देने की मांग की। इस मुद्दे को लेकर राजेश गंगवार तथा बाबू सिंह पिछले कई दिन से भूख हड़ताल पर हैं। उत्तर प्रदेश में बरेली के गंगवार पिछले 11 दिन से भूख हड़ताल पर हैं। उत्तर प्रदेश में फरुखाबाद के बाबू पिछले छह दिन से भूख हड़ताल पर हैं। वे 16 दिसम्बर को दिल्ली में हुए सामूहिक दुष्कर्म के सभी छह आरोपियों को तुरंत मृत्युदंड देने की मांग कर रहे हैं।

गंगवार ने कहा कि हमारा रक्तचाप पिछली रात को सामान्य था। राम मनोहर लोहिया अस्पताल से कुछ चिकित्सक यहां पहुंचे और उन्होंने हमारे रक्त में शुगर की मात्रा का पता लगाने के लिए नमूने लिए।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब पप्पू पहंचा परीक्षा देने...
अध्यापिका: परेशान क्यों हो?
पप्पू ने कोई जवाब नहीं दिया।
अध्यापिका: क्या हुआ, पेन भूल आये हो?
पप्पू फिर चुप।
अध्यापिका : रोल नंबर भूल गए हो?
अध्यापिका फिर से: हुआ क्या है, कुछ तो बताओ क्या भूल गए?
पप्पू गुस्से से: अरे! यहां मैं पर्ची गलत ले आया हूं और आपको पेन-पेंसिल की पड़ी है।