गुरुवार, 21 अगस्त, 2014 | 23:30 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    माफी मांगे, वरना मोदी के मंत्रियों को घुसने नहीं देंगेः झामुमो माफी मांगे, वरना मोदी के मंत्रियों को घुसने नहीं देंगेः झामुमो माफी मांगे, वरना मोदी के मंत्रियों को घुसने नहीं देंगेः झामुमो अरब में अस्थिरता का असर साफ झलकता है: सुषमा राज्यपाल मामले में कोर्ट ने केन्द्र को भेजा नोटिस पाक में कोर्ट का प्रदर्शनकारियों को हटाने के आदेश से इनकार मोदी का कार्यक्रम: चव्हाण के नहीं जाने को कांग्रेस की हां शर्मिला की रक्षा के लिए तैयार है मणिपुर सरकार: मंत्री  स्वास्थ्य मंत्री ने चतुर्वेदी की बर्खास्तगी को सही कहा तेलंगाना की शक्तियों का कोई अतिक्रमण नहीं: राजनाथ
 
Image Loading अन्य फोटो
संबंधित ख़बरे
दिल्ली में प्रदर्शन बेकाबू, सोनिया गांधी का कार्रवाई का वादा
नई दिल्ली, एजेंसी
First Published:23-12-12 06:23 PM
Last Updated:23-12-12 09:14 PM
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ-

राष्ट्रीय राजधानी में पिछले सप्ताह चलती बस में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार हुई 23 साल की युवती को न्याय दिलाने तथा बलात्कारियों को मृत्युदंड देने की मांग को लेकर दिल्ली में प्रदर्शन जारी है। कई जगह प्रदर्शनकारियों की पुलिस से झड़प हुई। पुलिस ने कई जगह निषेधाज्ञा भी लागू कर दी है। इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रदर्शनकारियों से वादा किया कि पीड़िता को जल्द से जल्द न्याय दिलवाया जाएगा।

प्रदर्शनकारियों की भारी भीड़ को देखते हुए राष्ट्रपति भवन की ओर जाने वाली सभी सड़कें बंद कर दी गईं। दिल्ली पुलिस के खिलाफ नारेबाजी कर रहे और बलात्कारियों को मौत की सजा देने की मांग कर रहे प्रदर्शनकारियों पर सुरक्षा कर्मियों ने पानी की बौछार भी की और आंसू गैस के गोले छोड़े।

पुलिस ने हालांकि धारा 144 के तहत जगह-जगह निषेधाज्ञा लागू कर रखी है, लेकिन प्रदर्शनकारियों की भारी भीड़ को देखते हुए पुलिस ने बाद में उन्हें इंडिया गेट पर प्रदर्शन की अनुमति दे दी। अन्य स्थानों पर जिन लोगों ने निषेधाज्ञा नहीं मानी, उनमें से कुछ को हिरासत में लिया गया।

जंतर मंतर पर बाबा रामदेव के समर्थकों ने भी  प्रदर्शन किया। साथ ही अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी (एएपी) के कार्यकर्ताओं ने भी प्रदर्शन किया। इसके अतिरिक्त कई ऐसे लोग जो किसी समूह या दल से जुड़े नहीं थे। उनमें भी जबरदस्त गुस्सा था।

एक महिला ने बलात्कारियों को मौत की सजा देने की मांग करते हुए कहा, ''हमारा गणतंत्र दिवस राजपथ पर मनाया जाता है। बलात्कारियों को यहीं फांसी पर लटकाया जाना चाहिए।''

बहुराष्ट्रीय कम्पनी में कार्यरत 25 वर्षीया पल्लवी ने आईएएनएस से कहा, ''सरकार सो रही है। हम इसे जगाना चाहते हैं। कानून मजबूत होना चाहिए और इसका अनुपालन उचित तरीके से होना चाहिए।''

दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्र हेमंत ने कहा कि प्रदर्शन तब तक जारी रहेंगे, जबतक हमें यह आश्वासन नहीं मिल जाता कि लड़कियां दिल्ली में सुरक्षित हैं।

प्रदर्शनकारी बसों की छत पर जाकर नारेबाजी कर रहे थे। उन्होंने कुछ बसों को क्षतिग्रस्त भी किया और टायरों की हवा निकाल दी।

प्रदर्शनकारियों में से कुछ महिलाओं ने रविवार सुबह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी मुलाकात की। सोनिया से मुलाकात के बाद उन्होंने कहा, ''कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कानून एवं व्यवस्था की स्थिति जल्द ही बदलेगी और पीड़िता को जल्द ही न्याय मिलेगा। उन्होंने कहा कि आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहित की धारा 307 तथा 201 लगाई जाएगी।''

धारा 307 हत्या के प्रयास तथा 201 सबूत मिटाने या गलत सूचना देने से सम्बंधित है।

कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री आर. पी. एन. सिंह तथा पार्टी की नेता रेणुका चौधरी भी छात्रों से मुलाकात के वक्त मौजूद थे।

प्रदर्शनकारियों की भारी भीड़ को देखते हुए दिल्ली मेट्रो के आठ स्टेशन रविवार को बंद कर दिए गए। लेकिन इसका भीड़ पर कोई असर नहीं दिखा।

इस बीच, दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने प्रदर्शनकारियों के साथ पुलिस के रवैये पर नाखुशी जताई।

 
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ- share  स्टोरी का मूल्याकंन
 
टिप्पणियाँ
 

लाइवहिन्दुस्तान पर अन्य ख़बरें

आज का मौसम राशिफल
अपना शहर चुने  
धूपसूर्यादय
सूर्यास्त
नमी
 : 05:41 AM
 : 06:55 PM
 : 16 %
अधिकतम
तापमान
43°
.
|
न्यूनतम
तापमान
24°