सोमवार, 03 अगस्त, 2015 | 10:07 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    सावन के पहले सोमवार मंदिरों में उमड़ी भारी भीड़, जयघोष से गूंजे शिवाले मंगल गृह की परिक्रमा में ट्रैफिक जाम से बचने के लिए काम कर रहा है नासा बिहार: जेडीयू के टिकट पर चुनाव लड़ सकती हैं शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम पाकिस्तान ने फिर किया संघर्षविराम का उल्लंघन, कई चौकियों को निशाना बनाया याकूब मेमन के साथ हमदर्दी जताना राष्ट्र के लिये नुकसानदेह है: वेंकैया नायडू झारखंड की शिक्षा मंत्री की शिक्षा का जवाब नहीं, अब बिहार को बताया पड़ोसी देश पाकिस्तान ने 163 भारतीय मछुआरों को रिहा किया  हम टीचर्स की इज्जत करतें हैं, आपलोगों को नहीं मारेंगे: आईएस आतंकी  पीएम मोदी की गया रैली में प्रयोग होगा एसपीजी की 'ब्लू बुक' अलर्ट, जानिये क्या है 'ब्लू बुक'... लालू ने भरी हुंकार, कहा शोषितों की आजादी की दूसरी लड़ाई लड़ रहा राजद
दुष्कर्मियों को मुत्युदंड के लिए 10 दिनों से अनशन
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:02-01-2013 07:56:12 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

राष्ट्रीय राजधानी में चलती बस में 23 वर्षीय युवती के साथ मिलकर दुष्कर्म करने वाले आतताइयों को मृत्युदंड देने की मांग को लेकर एक व्यक्ति यहां पिछले 10 दिनों से अनशन पर बैठा हुआ है।

उत्तर प्रदेश के बरेली के रहने वाले राजेश गंगवार ने 10 दिनों पहले जंतर मंतर के पास एक सड़क पर अपना अनशन शुरू किया था। यहीं पर उत्तर प्रदेश के फरूखाबाद के बाबू सिंह के अनशन का आज पांचवां दिन है।

दोनो अनशनकारियों ने हाड़ कंपा देने वाली ठंड के बावजूद एक और रात अनशन स्थल पर ही बिताई। जबकि बुधवार तड़के पारा 4.8 डिग्री सेल्सियस पर लुढ़क गया।

दोनों भूख हड़ताली, युवती के साथ चलती बस में दुष्कर्म करने वाले सभी छह आतताइयों को तत्काल फांसी पर लटकाने की मांग कर रहे हैं। सभी छह आरोपी गिरफ्तार हैं और तिहाड़ जेल में कैद हैं।

गैर सरकारी संगठन, मिशन जन जागृति के चिकित्सा निदेशक एन.के. भाटिया ने गंगवार और बाबू सिंह के स्वास्थ्य की जांच की। उन्होंने कहा कि उनके प्रमुख स्वास्थ्य मानक सामान्य हैं।

इस बीच दुष्कर्म के आरोपियों को दंडित किए जाने और महिलाओं के खिलाफ बढ़ रहे अपराधों को समाप्त करने के लिए कठोर कानून बनाने की मांग को लेकर सैकड़ाें लोग प्रदर्शन जारी रखे हुए हैं।

प्रदर्शन स्थल पर रात को तो कुछ प्रदर्शनकारी ही रह जाते हैं, लेकिन सुबह होने के साथ ही वहां लोगों की भीड़ जमा होनी शुरू हो जाती है। प्रदर्शनकारियों में ज्यादातर कॉलेज के विद्यार्थी हैं।

प्रदर्शन स्थल पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम हैं। और सैकड़ाें की संख्या में पुलिसकर्मी किसी भी स्थिति से निपटने के लिए वहां लगातार मुस्तैद हैं।

कुछ गैर सरकारी संगठनों को प्रदर्शनकारियों में गरम दूध वितरित करते देखा गया।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image LoadingMCA ने शाहरुख के वानखेड़े स्टेडियम में प्रवेश करने से बैन हटाया
मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन ने अभिनेता शाहरुख खान पर वानखेड़े स्टेडियम में घुसने पर लगा प्रतिबंध हटा लिया है। एमसीए के उपाध्यक्ष आशीष शेलार के मुताबिक एमसीए ने यह फैसला रविवार को हुई मैनेजिंग कमेटी की बैठक में लिया है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब बीमार पड़ा संता...
जीतो बीमार पति से: जानवर के डॉक्टर को मिलो तब आराम मिलेगा!
संता: वो क्यों?
जीतो: रोज़ सुबह मुर्गे की तरह जल्दी उठ जाते हो, घोड़े की तरह भाग के ऑफिस जाते हो, गधे की तरह दिनभर काम करते हो, घर आकर परिवार पर कुत्ते की तरह भोंकते हो, और रात को खाकर भैंस की तरह सो जाते हो, बेचारा इंसानों का डॉक्टर आपका क्या इलाज करेगा?