रविवार, 30 अगस्त, 2015 | 23:26 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
राष्ट्रपति भवन के दरबार हॉल का बदला रंगरूप
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:07-12-2012 07:30:33 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के शपथ ग्रहण के गवाह बने राष्ट्रपति भवन के ऐतिहासिक दरबार हॉल का पूरा हुलिया बदल गया है। यह सब राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के प्रयास के कारण संभव हुआ।

इस हॉल को 1913 में एडविन लुटियन ने तैयार किया था। इसे राष्ट्रपति भवन का ह्दय कहा जाता है, जिसमें आमतौर पर पद्म पुरस्कार और रक्षा अलंकरण समारोह आयोजित होते हैं।

हॉल के नवीनीकरण के बाद कल शाम यहां एक समारोह का आयोजन किया गया। इसमें राष्ट्रपति ने 131 देशों के प्रधान न्यायाधीशों सहित कई विशिष्ट अतिथियों को संबोधित किया।

आसियान-इंडिया कामेमरेटिव शिखर बैठक के भी इस हॉल में होने की संभावना है। दो दिनों तक होने वाली बैठक 20 दिसंबर से आरंभ हो रही है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingकोलंबो टेस्ट: भारत को 132 रनों की बढ़त
इशांत शर्मा ( 54 रन पर पांच विकेट) की घातक गेंदबाजी और इससे पहले ओपनर चेतेश्वर पुजारा (नाबाद 145) रन के शानदार प्रदर्शन की बदौलत भारत ने यहां तीसरे और निर्णायक टेस्ट मैच के तीसरे दिन रविवार को अपना शिकंजा कसते हुये मेजबान श्रीलंका के खिलाफ 111 रन की महत्वपूर्ण बढ़त हासिल कर ली।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

सीसीटीवी कैमरों का जमाना है...
पिता: एक समय था, जब मैं 10 रुपए में किराना, दूध, सब्जी और नाश्ता ले आता था..
बेटा: अब संभव नहीं है, पापा अब वहां सीसीटीवी कैमरे लगे होते हैं।