मंगलवार, 25 नवम्बर, 2014 | 03:02 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    श्रीनिवासन आईपीएल टीम मालिक और बीसीसीआई अध्यक्ष एकसाथ कैसे: सुप्रीम कोर्ट  झारखंड और जम्मू-कश्मीर में पहले चरण की वोटिंग आज पार्टियों ने वोटरों को लुभाने के लिए किया रेडियो का इस्तेमाल सांसद बनने के बाद छोड़ दिया अभिनय : ईरानी  सरकार और संसद में बैठे लोग मिलकर देश आगे बढाएं :मोदी ग्लोबल वॉर्मिंग से गरीबी की लड़ाई पड़ सकती है कमजोर: विश्व बैंक सोयूज अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के लिए रवाना  वरिष्ठ नेता मुरली देवड़ा का निधन, मोदी ने जताया शोक  छह साल बाद पाक के पास होंगे 200 एटमी हथियार अलग विदर्भ के लिए गडकरी ने कांग्रेस से समर्थन मांगा
राष्ट्रपति भवन के दरबार हॉल का बदला रंगरूप
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:07-12-12 07:30 PM

देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के शपथ ग्रहण के गवाह बने राष्ट्रपति भवन के ऐतिहासिक दरबार हॉल का पूरा हुलिया बदल गया है। यह सब राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के प्रयास के कारण संभव हुआ।

इस हॉल को 1913 में एडविन लुटियन ने तैयार किया था। इसे राष्ट्रपति भवन का ह्दय कहा जाता है, जिसमें आमतौर पर पद्म पुरस्कार और रक्षा अलंकरण समारोह आयोजित होते हैं।

हॉल के नवीनीकरण के बाद कल शाम यहां एक समारोह का आयोजन किया गया। इसमें राष्ट्रपति ने 131 देशों के प्रधान न्यायाधीशों सहित कई विशिष्ट अतिथियों को संबोधित किया।

आसियान-इंडिया कामेमरेटिव शिखर बैठक के भी इस हॉल में होने की संभावना है। दो दिनों तक होने वाली बैठक 20 दिसंबर से आरंभ हो रही है।

 
 
 
टिप्पणियाँ