शुक्रवार, 28 अगस्त, 2015 | 15:00 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
उत्तराखंड: यूपी के गोरखपुर में सुपारी देकर वकील की हत्या कराने वाला नैनीताल में गिरफ्तार, 18 अगस्त को गोरखपुर में हुई थी हत्या, तलाश करते हुए नैनीताल पहुंची थी गोरखपुर पुलिस।उत्तर प्रदेश: संभल के गुमसानी और मढन गांव के लोगों ने गांव को असमौली थाने से जोड़ने पर जताई नाराजगी, कमिश्नर दफ्तर के गेट पर पढ़ी नमाज, गांव वाले फिर से मुरादाबाद के पाकवाड़ा थाने से जोड़ने की बात कह रहे हैं।
ठंड ने तोड़ा 44 साल का रिकार्ड, उत्तरप्रदेश में 15 मरे
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:02-01-2013 09:23:39 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

समूचे उत्तर भारत के भीषण ठंड की चपेट में होने के बीच राष्ट्रीय राजधानी में सर्दी ने पिछले 44 साल का रिकार्ड तोड़ दिया है, वहीं ठंड की वजह से उत्तरप्रदेश में 15 और लोगों की जान चली गयी।

राजधानी में बुधवार को हाड़ कंपाने वाली हवाएं चल रही थीं। अधिकतम तापमान 9.8 डिग्री सेल्सियस स्तर पर आ गया जो 44 साल में सबसे कम है। मौसम विभाग के मुताबिक, न्यूनतम तापमान 4.8 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। कोहरे की घनी चादर और बर्फीली हवाओं ने लोगों को ठिठुरने को मजबूर कर दिया। अधिकतम तापमान 9.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वर्ष 1969 के बाद से पहली बार अधिकतम तापमान इतना कम रहा। कल भी लोगों को बर्फीली हवाओं का सामना करना पड़ सकता है।

कोहरे की घनी चादर के चलते इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर दृश्यता काफी गिर जाने के कारण कई उड़ानें आज भी प्रभावित हुईं। करीब 30 से ज्यादा उड़ानों के समय का पुनर्निर्धारण किया गया और एक अंतरराष्ट्रीय उड़ान को मार्ग परिवर्तित कर मुंबई भेज दिया गया।

उत्तरप्रदेश में ठंड से होने वाली मौतों का सिलसिला जारी है। राज्य के विभिन्न हिस्सों में 15 और लोगों की जान चली गयी। अधिकारियों ने बताया कि ठंड के कारण मुजफ्फरनगर में चार लोगों ने दम तोड़ दिया। मथुरा में तीन, आगरा, बुलंदशहर, एटा में दो-दो ओर बाराबंकी तथा मिर्जापुर में एक-एक व्यक्ति की जान चली गयी।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingबारिश ने खेल रोका, भारत का स्कोर 50/2
भारत और श्रीलंका की क्रिकेट टीमों के बीच शुक्रवार को सिन्हलीज स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर शुरू हुए तीसरे और निर्णायक टेस्ट मैच के पहले सत्र का खेल बारिश से प्रभावित रहा।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब पप्पू पहंचा परीक्षा देने...
अध्यापिका: परेशान क्यों हो?
पप्पू ने कोई जवाब नहीं दिया।
अध्यापिका: क्या हुआ, पेन भूल आये हो?
पप्पू फिर चुप।
अध्यापिका : रोल नंबर भूल गए हो?
अध्यापिका फिर से: हुआ क्या है, कुछ तो बताओ क्या भूल गए?
पप्पू गुस्से से: अरे! यहां मैं पर्ची गलत ले आया हूं और आपको पेन-पेंसिल की पड़ी है।