बुधवार, 05 अगस्त, 2015 | 09:52 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
जम्मू श्रीनगर के हाईवे पर बीएसएफ के काफिले पर आतंकी हमला; छह जवान घायलहरदा में दो ट्रेनों के दुर्घटनाग्रस्त होने की घटना की जांच के आदेश दिए गए, रेल सुरक्षा आयुक्त (मध्य जोन) करेंगे जांच।रेल विभाग ने मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपसे मुआवजा देने की घोषणा की, गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपये और मामूली रूप से घायलों को 25-25 हजार रुपये का मुआवजा दिया जाएगा।हेल्पलाइन नंबरः हरदाः 9752460088 वाराणसीः 9794845312, 0542 2504221, मुंबईः 022-5280005 भोपालः 07554061609 बीनाः 075802222 इटारसीः 0758422419200
ब्रिटेन के अखबार ने छापा गैंगरेप पीड़िता का नाम
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:07-01-2013 12:10:56 PMLast Updated:07-01-2013 04:03:41 PM
Image Loading

ब्रितानी अखबार मिरर में दिल्ली के सामूहिक बलात्कार कांड की पीड़िता के पिता के साक्षात्कार के बाद दुनियाभर के लोगों ने आरोपियों को मौत की सजा देने अथवा अंग-भंग करने की मांग की है।
   
मिरर की वेबसाइट पर प्रकाशित इस खबर पर दुनियाभर से 330 से अधिक टिप्पणियां आ चुकी हैं, जिसमें दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिये जाने की मांग की गई है। यही नहीं यह खबर मिरर की आज सबसे ज्यादा पढ़ी जाने वाली खबर भी है। इस साक्षात्कार में पीड़िता के पिता ने उसका नाम सार्वजनिक किया और कहा, मैं चाहता हूं कि दुनिया जाने की मेरी बेटी का नाम क्या है।
   
अफ्रीकी देश उगांडा से कमल थांकी ने लिखा कि यह बहुत गलत होगा कि दोषियों को फांसी दे दी जाये और इससे समस्या का समाधान नहीं होगा। इसका सर्वश्रेष्ठ समाधान यह होगा कि उनके गुप्तांग काट दिया जाये ताकि वे जीवन भर याद रखें।
   
काटिआ लेइटाओ ने लिखा, प्रिय भारत, आपने विश्व को आध्यात्मिकता सिखाई और हम इसे फिर से जी सके। आपकी बेटी का शरीर भले ही मर गया हो, लेकिन वह नहीं। उसे आपके देश के विरोध प्रदर्शनों में देखा जा सकता है। निराश न हो। अपने बच्चों को सच सिखायें।
   
अपा विनर ने लिखा कि निर्दयी लोगों को मौत की सजा नहीं दी जाये, उन्हें जिंदा रखा जाये और उनके हाथ तथा पैर काट दिये जायें। उनको बधिया कर दिया जाये। उन्हें इतना लाचार बना दिया जाए कि वह देश तथा न्यायपालिका से मौत की भीख मांगे। यह सजा उन्हें मरते दम तक दी जाये।
     
लंदन से सैंडी ने लिखा कि भारत में बदलाव की जरूरत है। भारत में हुई यह वीभत्स घटना उन चीजों में शामिल है जिसे कभी नहीं भुलाया नहीं जा सकता। हमें आशा करनी चाहिये कि उसकी पीड़ा से भारत में महिलाओं के खिलाफ हिंसा के मामले में व्यवहार और कानून में बदलाव आयेगा।
     
इवा चर ने लिखा कि मैं विश्वास नहीं कर सकती कि एक इनसान दूसरे के साथ ऐसा कैसे व्यवहार कर सकता है। यह असंभव है। क्या आप समझते हैं कि उन्होंने अपने दिमाग या भावनाओं का इस्तेमाल किया होगा, ज्यादातर लोग ऐसा नहीं करते हैं। मुझे इस युवा लड़की की कमी हमेशा खलेगी और आशा करती हूं कि इन दोषियों को उतनी ही कड़ी, क्रूर और दर्द से भरी सजा मिलेगी।
     
उन्होंने कहा कि यही न्याय होगा ताकि वे यह महसूस कर सकें कि उस रात क्या हुआ था। मैं आशा करती हूं कि सभी महिलायें हरेक स्थिति में बहादुर बनेंगी और जरूरत पड़ने पर मदद पा सकेंगी।
     
इस बीच अखबार में लड़की का नाम सार्वजनिक होते ही सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट फेसबुक पर उसके नाम से और उसे श्रद्धाजंलि देने के लिये करीब 40 पेज बन गये हैं। इन फेसबुक पेजों पर लोग पीड़िता को याद कर रहे हैं और देश में महिलाओं की स्थिति पर सरकार से तीखे सवाल कर रहे हैं। सैंकड़ों की संख्या में लोग इन पेजों को लाइक भी कर रहे हैं।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingतेंदुलकर ने मलिंगा की तारीफों के पुल बांधे
तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा की तारीफ करते हुए महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने आज कहा कि श्रीलंका का यह क्रिकेटर विश्व स्तरीय गेंदबाज है और उनके साथ इंडियन प्रीमियर लीग में खेलना शानदार अनुभव रहा।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

संता बंता और अलार्म

संता बंता से - 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह सुबह मेरी नींद खुल गई।

बंता - क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?

संता - नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।