रविवार, 30 अगस्त, 2015 | 02:27 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
तेलंगाना मुद्दे पर हुई मौतों के लिए संप्रग सरकार जिम्मेदार: भाजपा
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:30-11-2012 02:51:34 PMLast Updated:30-11-2012 03:00:48 PM
Image Loading

तेलंगाना को अलग राज्य बनाने की मांग के लिए चल रहे आंदोलन में पिछले तीन साल के दौरान आत्महत्या और पुलिस की गोलियों के शिकार हुए लोगों की मौत के लिए केंद्र की संप्रग सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए भाजपा ने आज कहा कि यदि केंद्र सरकार इस मुद्दे पर तुरंत फैसला कर लेती, तो इन लोगों की जानें बच सकती थीं।
     
राज्यसभा में शून्यकाल के दौरान भाजपा नेता प्रकाश जावडेकर ने यह मुद्दा उठाते हुए कहा कि तेलंगाना क्षेत्र में वैसे तो अलग राज्य के गठन की मांग को लेकर कई दशकों से आंदोलन चल रहा है। लेकिन पिछले तीन सालों में इस आंदोलन में जितने लोगों की जानें गयी हैं, उतनी कभी नहीं गयीं। उन्होंने कहा कि पिछले तीन सालों में करीब 50 लोगों की जान आत्महत्या के कारण गईं और कई लोग पुलिस की गोलियां के शिकार हुए।
    
भाजपा सदस्य ने कहा कि नवंबर महीने में दो छात्राओं ने आत्महत्या कर ली। वहां आत्महत्याओं का दौर बदस्तूर जारी है। उन्होंने कहा कि 40 साल से चल रहे आंदोलन में वहां के लोगों ने हर जनतांत्रिक तरीके से अपनी भावनाओं का इजहार किया है।
    
जावडेकर ने कहा कि इन मौतों के लिए कांग्रेस नीत संप्रग सरकार जिम्मेदार है क्योंकि तीन साल पहले तत्कालीन गृह मंत्री पी चिदंबरम ने तेलंगाना राज्य के गठन की प्रक्रिया शुरू होने की घोषणा की थी। लेकिन इसके बाद सरकार सर्वदलीय बैठक, विभिन्न समितियों और आयोग का गठन करके टालमटोल कर रही है।
     
उन्होंने कहा कि सरकार के इसी रुख के कारण तेलंगाना में पिछले तीन साल के दौरान आंदोलन में बहुत तेजी आई है और नए राज्य के गठन तक यह आंदोलन थमने की संभावना भी नजर नहीं आ रही है।
     
भाजपा नेता ने आरोप लगाया कि संप्रग सरकार की तेलंगाना मुद्दे पर टालमटोल की नीति का खामियाजा आंध्र प्रदेश में कांग्रेस को उठाना पड़ रहा है, जहां उसका सूपड़ा साफ हो जाएगा।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingगावस्कर ने पुजारा की तारीफों के पुल बांधे
अपनी अच्छी तकनीक और शांत चित के कारण चेतेश्वर पुजारा क्रीज पर अपने पांव जमाने में माहिर हैं और पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने भी इस युवा बल्लेबाज की आज जमकर तारीफ की जिन्होंने अपने नाबाद शतक से भारत को संकट से उबारा।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब संता के घर आए डाकू...
आधी रात को संता के घर डाकू आए।
संता को जगाकर पूछा: यह बताओ कि सोना कहां है?
संता (गुस्से से): इतना बड़ा घर है कहीं भी सो जाओ। इतनी छोटी बात के लिए मुझे क्यों जगाया!