शुक्रवार, 29 मई, 2015 | 01:40 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    मोदी ने मनमोहन से लिया था एक घंटे इकॉनोमी का ज्ञानः राहुल लोकलुभावन रास्ते की बजाय अधिक कठिन मार्ग चुना :मोदी CBSE 10th रिजल्ट: 94,447 छात्रों को मिला 10 सीजीपीए सोनिया की मौजूदगी में हुई बैठक, पास हुआ मोदी के खिलाफ निंदा प्रस्ताव जेट एयरवेज की टिकटों पर 25 प्रतिशत छूट की पेशकश रायबरेली पहुंची सोनिया गांधी व्यापम घोटाला: अब तक जांच से जुड़े 40 लोगों की मौत त्रिपुरा सरकार ने राज्य में 18 सालों से लगा अफस्पा हटाया गुर्जर आंदोलन: बैंसला बोले, चाहे कुछ हो जाए बिना आरक्षण लिए नहीं लौटेंगे कुछ इस तरह हुई फीफा के 14 अधिकारियों की गिरफ्तारी
मोदी की PM पद की दावेदारी पर भाजपा में मतभेद
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:20-12-12 12:05 PM
Image Loading

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी जहां राज्य में हैट्रिक लगाने की ओर बढ़ रहे हैं, वहीं उनकी पार्टी भाजपा ने इस बारे में कोई सीधा रुख स्पष्ट नहीं किया कि क्या वह अगले लोकसभा चुनाव में पार्टी के प्रधानमंत्री पद के दावेदार होंगे।
   
भाजपा के मुख्य प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि मोदी भाई हमेशा से भाजपा में एक महत्वपूर्ण नेता रहे हैं। हमारी पार्टी वंशवाद से नहीं चलती जिसमें कोई युवराज नेता हो। हम लोकतांत्रिक तरीके से काम करते हैं।
   
प्रसाद से सवाल किया गया था कि क्या गुजरात में लगातार तीसरी जीत दिलाने वाले मोदी अगले लोकसभा चुनाव में पार्टी के प्रधानमंत्री पद के दावेदार हो सकते हैं।
   
उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा को इस बात का गर्व है कि उसमें प्रधानमंत्री बनने की क्षमता रखने वाले अनेक नेता हैं। उचित समय पर उम्मीदवार को चुना जाएगा।
   
प्रसाद ने कहा कि मोदी राज्य में ही नहीं बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी अपने खिलाफ अनेक अभियानों के खिलाफ लड़ते रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस चुनाव की सबसे खास बात यह है कि देश में जहां जाति के नाम पर इतना विभाजन है वहां एक नेता पूरी जनता की आकांक्षाओं के अनुएप पहचान बनाते हुए विजेता बनकर उभरा है।
   
प्रसाद ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के भाजपा के साथ जटिल रिश्तों के सवाल पर भी सीधा जवाब नहीं दिया। नीतीश हमेशा से राष्ट्रीय स्तर पर मोदी के बढ़ने के खिलाफ रहे हैं। प्रसाद ने कहा कि इस मुद्दे (मोदी और नीतीश के) पर अनेक बार चर्चा हुई है। हमारी (भाजपा और जदयू की) जड़ें बहुत मजबूत हैं और हमने अनेक चुनाव मिलकर लड़े हैं।
   
इस बारे में अन्य प्रश्नों को उन्होंने केवल अटकल कहकर खारिज कर दिया। प्रसाद ने कहा, हमें मोदी भाई की तीसरी जीत की खुशियां मनानी चाहिए।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
Image Loadingमूडी, पोटिंग, फ्लेमिंग या विटोरी हो सकते हैं टीम इंडिया के नए कोच
भारतीय टीम के पूर्व कोच डंकन फ्लेचर का कार्यकाल खत्म हो चुका है और बीसीसीआई अब एक नए कोच की तलाश में जुटी हुई है। टीम इंडिया का कोच बनना एक बड़ी चुनौती होती है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड