शनिवार, 25 अक्टूबर, 2014 | 06:06 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
आसाराम ने की एक और विवादित टिप्पणी
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:08-01-13 06:45 PMLast Updated:08-01-13 07:01 PM
Image Loading

धार्मिक प्रवचन करने वाले आसाराम ने दिल्ली सामूहिक बलात्कार पीड़िता के बारे में दिए गए अपने विवादास्पद बयान की चारों तरफ हो रही आलोचनाओं से विचलित होने के बजाय उल्टे अपनी टिप्पणियों को न्यायोचित ठहराये की कोशिश की और अपनी आलोचना करने वालों को भौंकने वाले कुत्ते करार दिया।
 
आसाराम ने अपनी तुलना उस हाथी से की जो भौंकने वाले कुत्तों पर ध्यान नहीं देता और कहा कि 16 दिसंबर को हुई सामूहिक बलात्कार की घटना के बारे में दिए गए उनके बयान को मीडिया और आलोचकों ने गलत अर्थ में लिया। आसाराम ने अपने समर्थकों को संबोधित करते हुये कहा कि पहले एक कुत्ता भौंकता है। इसके बाद एक अन्य कुत्ता भौंकता है। जल्द ही पड़ोस के सभी कुत्ते भौंकना शुरू कर देते हैं।

उन्होंने स्वयं अपनी ओर इशारा करते हुये कहा कि यदि हाथी कुत्तों के पीछे दौड़ता है, तब उनका (कुत्तों) महत्व बढ़ता है। इस वजह से हाथी आगे बढ़ता जाता है। वे वह कह सकते हैं जो उन्हें पसंद है। मैं ध्यान नहीं देता हूं। मैं अब भी कहना चाहूंगा कि मुझे क्यों कुत्तों के पीछे भागना चाहिए।
 
 
 
टिप्पणियाँ