बुधवार, 05 अगस्त, 2015 | 09:51 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
जम्मू श्रीनगर के हाईवे पर बीएसएफ के काफिले पर आतंकी हमला; छह जवान घायलहरदा में दो ट्रेनों के दुर्घटनाग्रस्त होने की घटना की जांच के आदेश दिए गए, रेल सुरक्षा आयुक्त (मध्य जोन) करेंगे जांच।रेल विभाग ने मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपसे मुआवजा देने की घोषणा की, गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपये और मामूली रूप से घायलों को 25-25 हजार रुपये का मुआवजा दिया जाएगा।हेल्पलाइन नंबरः हरदाः 9752460088 वाराणसीः 9794845312, 0542 2504221, मुंबईः 022-5280005 भोपालः 07554061609 बीनाः 075802222 इटारसीः 0758422419200
जासूसी मामले में वीके सिंह के परिवार ने मेजर को बनाया बंधक
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:05-01-2013 07:26:50 PMLast Updated:05-01-2013 09:34:31 PM
Image Loading

पूर्व सेना प्रमुख जनरल वीके सिंह के आवास पर शनिवार को उस वक्त नाटकीय घटनाक्रम देखने को मिला, जब एक मेजर उनके आवास पर सेना के टेलीफोन एक्सचेंज को कथित तौर पर हटाने गए। सिंह के परिवार ने अपने आवास में इसे जासूसी यंत्र लगाने की कोशिश बताया।

सिग्नल्स रेजीमेंट के मेजर को पूर्व सेना प्रमुख के परिवार के सदस्यों ने बंधक बना लिया। उन्होंने दोपहर करीब दो बजे दिल्ली छावनी में मंदिर मार्ग स्थित आवास पर मीडिया को बुलाया।

परिवार के सदस्यों ने जनरल सिंह की जेड प्लस सुरक्षा हटाये जाने से इस मामले को जोड़ दिया। पूर्व सेना प्रमुख की उम्र को लेकर पैदा हुए विवाद के चलते साल भर से अधिक समय से मंत्रालय के साथ उनका गतिरोध कायम है।

जनरल सिंह के परिवार के सदस्यों ने आरोप लगाया कि प्रथम सिग्नल्स रेजीमेंट के मेजर आर विक्रम उनके आवास में बगैर इजाजत के प्रवेश कर गए और उन्होंने उनके टेलीफोन से छेड़छाड़ की कोशिश की।

जनरल सिंह के वकील विश्वजीत सिंह ने बताया कि हमने मेजर को आवास में पाया। वे वहां मौजूदगी की कोई उचित वजह नहीं बता सके। उनके पास कोई वैध दस्तावेज भी नहीं थे। हमने उन्हें बंधक बना लिया। उन्होंने अपनी पहचान प्रथम सिग्नल्स रेजीमेंट के मेजर आर विक्रम के रूप में जाहिर की। उन्होंने दावा किया कि सेना के मेजर और उनकी टीम के पास कुछ कार्ड थे।

उन्होंने कहा कि हाल ही में उन्होंने सुरक्षा वापस ले ली थी और अब यह सब कुछ हुआ।

सेना सूत्रों ने बताया कि जेड प्लस सुरक्षा श्रेणी के तहत दिये गए पूर्व सेना प्रमुख के आवास से एक्सचेंज हटाया जा रहा है। सेना ने जासूसी की कोशिश के आरोप को खारिज करते हुए कहा है कि टीम वहां सेना के टेलीफोन एक्सचेंज को हटाने गई थी और संवादहीनता के चलते ये हालात पैदा हुए।

सेना ने एक बयान में कहा कि एक सिग्नल्स रेजीमेंट पार्टी सेना के एक्सचेंज और लाइन को हटाने के लिए मंदिर मार्ग स्थित उनके आवास पर गई। पूर्व सेना प्रमुख ने पूर्व नोटिस के बगैर एक्सचेंज हटाये जाने पर आपत्ति जताई। बहरहाल, टीम एक्सचेंज हटाये बगैर लौट गई।

सेना के प्रवक्ता कर्नल जे दहिया ने कहा कि सेना की टीम वहां टेलीफोन एक्सचेंज हटाने गई थी लेकिन बगैर पूर्व सूचना के गई थी इसलिए यह सब हुआ।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingतेंदुलकर ने मलिंगा की तारीफों के पुल बांधे
तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा की तारीफ करते हुए महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने आज कहा कि श्रीलंका का यह क्रिकेटर विश्व स्तरीय गेंदबाज है और उनके साथ इंडियन प्रीमियर लीग में खेलना शानदार अनुभव रहा।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

संता बंता और अलार्म

संता बंता से - 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह सुबह मेरी नींद खुल गई।

बंता - क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?

संता - नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।