सोमवार, 27 अप्रैल, 2015 | 11:06 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
बरेली: शाहजहांपुर रोड पर बालकिशन अस्पताल में 50 लाख का डाका, आधी रात को घर में घुसे कई हथियारबंद बदमाशों ने की लूटपाट, बंधक बननाकर 50 लाख से ज्यादा की ज्वेलरी और कैश लूटा, जयपुर के पूर्व सीएमओ बालकिशन संचालित करते हैं अस्पताल।तमिलनाडु सरकार को जयललिता के आय से अधिक संपत्ति के मामले में विशेष सरकारी वकील नियुक्त करने का कोई अधिकार नहीं: उच्चतम न्यायालय।तेल की कीमतें घटने जैसे बाहय कारक भारत के लिए अचानक लाभ में बदल गये: वित्त मंत्री अरुण जेटली।
जासूसी मामले में वीके सिंह के परिवार ने मेजर को बनाया बंधक
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:05-01-13 07:26 PMLast Updated:05-01-13 09:34 PM
Image Loading

पूर्व सेना प्रमुख जनरल वीके सिंह के आवास पर शनिवार को उस वक्त नाटकीय घटनाक्रम देखने को मिला, जब एक मेजर उनके आवास पर सेना के टेलीफोन एक्सचेंज को कथित तौर पर हटाने गए। सिंह के परिवार ने अपने आवास में इसे जासूसी यंत्र लगाने की कोशिश बताया।

सिग्नल्स रेजीमेंट के मेजर को पूर्व सेना प्रमुख के परिवार के सदस्यों ने बंधक बना लिया। उन्होंने दोपहर करीब दो बजे दिल्ली छावनी में मंदिर मार्ग स्थित आवास पर मीडिया को बुलाया।

परिवार के सदस्यों ने जनरल सिंह की जेड प्लस सुरक्षा हटाये जाने से इस मामले को जोड़ दिया। पूर्व सेना प्रमुख की उम्र को लेकर पैदा हुए विवाद के चलते साल भर से अधिक समय से मंत्रालय के साथ उनका गतिरोध कायम है।

जनरल सिंह के परिवार के सदस्यों ने आरोप लगाया कि प्रथम सिग्नल्स रेजीमेंट के मेजर आर विक्रम उनके आवास में बगैर इजाजत के प्रवेश कर गए और उन्होंने उनके टेलीफोन से छेड़छाड़ की कोशिश की।

जनरल सिंह के वकील विश्वजीत सिंह ने बताया कि हमने मेजर को आवास में पाया। वे वहां मौजूदगी की कोई उचित वजह नहीं बता सके। उनके पास कोई वैध दस्तावेज भी नहीं थे। हमने उन्हें बंधक बना लिया। उन्होंने अपनी पहचान प्रथम सिग्नल्स रेजीमेंट के मेजर आर विक्रम के रूप में जाहिर की। उन्होंने दावा किया कि सेना के मेजर और उनकी टीम के पास कुछ कार्ड थे।

उन्होंने कहा कि हाल ही में उन्होंने सुरक्षा वापस ले ली थी और अब यह सब कुछ हुआ।

सेना सूत्रों ने बताया कि जेड प्लस सुरक्षा श्रेणी के तहत दिये गए पूर्व सेना प्रमुख के आवास से एक्सचेंज हटाया जा रहा है। सेना ने जासूसी की कोशिश के आरोप को खारिज करते हुए कहा है कि टीम वहां सेना के टेलीफोन एक्सचेंज को हटाने गई थी और संवादहीनता के चलते ये हालात पैदा हुए।

सेना ने एक बयान में कहा कि एक सिग्नल्स रेजीमेंट पार्टी सेना के एक्सचेंज और लाइन को हटाने के लिए मंदिर मार्ग स्थित उनके आवास पर गई। पूर्व सेना प्रमुख ने पूर्व नोटिस के बगैर एक्सचेंज हटाये जाने पर आपत्ति जताई। बहरहाल, टीम एक्सचेंज हटाये बगैर लौट गई।

सेना के प्रवक्ता कर्नल जे दहिया ने कहा कि सेना की टीम वहां टेलीफोन एक्सचेंज हटाने गई थी लेकिन बगैर पूर्व सूचना के गई थी इसलिए यह सब हुआ।

 
 
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
जरूर पढ़ें
Image Loadingस्टार्क और गेल के आगे ढेर हुए डेयरडेविल्स
मिशेल स्टार्क की अगुवाई में गेंदबाजों के बेजोड़ प्रदर्शन और बाद में क्रिस गेल की तूफानी पारी से रायल चैलेंजर्स बेंगलूर ने दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ अपना प्रभुत्व कायम रखते हुए आईपीएल आठ में 57 गेंद शेष रहते हुए दस विकेट की धमाकेदार जीत दर्ज की।