बुधवार, 01 जुलाई, 2015 | 02:52 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    'मेंढक' को है आपकी दुआओं की जरूरत, कोमा में है आपका चहेता किरदार सुनंदा पुष्कर केस में शशि थरूर का लाइ डिटेक्टर टेस्ट कराने की तैयारी में जुटी पुलिस शर्मनाक: सीरिया में आईएस ने दो महिलाओं का सिर कलम किया उपचुनाव में रिकॉर्ड डेढ लाख वोटों के अंतर से जीतीं जयलिलता, सभी विरोधी उम्मीदवारों की जमानत जब्त धौलपुर महल विवाद: कांग्रेस ने राजे के खिलाफ नए सबूत पेश किए, भाजपा बोली, छवि बिगाड़ने की साजिश ट्विटर पर जॉन ने खोली 'वेलकम बैक' की रिलीज़ डेट, आप भी जानिए बांग्लादेश में उड़ा टीम इंडिया का मजाक, इन क्रिकेटरों को दिखाया आधा गंजा गांगुली ने टीम इंडिया में हरभजन की वापसी का किया स्वागत रोहित समय के पाबंद हैं, उनके साथ काम करना मुश्किल: शाहरूख खान तेंदुलकर ने अजिंक्य रहाणे को दीं शुभकामनाएं
विदेशी कंपनियों के प्रवेश पर अन्ना ने जताया एतराज
जगतसिंहपुर, ओडिशा, एजेंसी First Published:30-11-12 10:17 PM

सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने स्टील कंपनी पॉस्को सहित विदेशी कंपनियों के प्रवेश का विरोध करते हुए कहा कि ऐसे निवेशक अपने लाभ के लिए उद्योग लगाने के नाम परे देश की प्राकृतिक संसाधन का दुरुपयोग करते हैं।

हजारे ने यहां पर एक किसान रैली में कहा कि देश में पॉस्को सहित सभी विदेशी कंपनियों के प्रवेश पर ब्रेक लगाया जाना चाहिए, क्योंकि वे यहां अपने लाभ के लिए संसाधन का दोहन करते हैं और किसानों की भूमि लूटते हैं।

हजारे ने आरोप लगाया कि केंद्र और राज्य सरकार प्रभावित लोगों से राय मशविरे के बिना ही ऐसे उद्योगों की स्थापना का निर्णय लेती है। उन्होंने कहा कि किसानों की इच्छा के विपरीत कृषि और गैर कृषि योग्य भूमि जबरदस्ती छीनकर कंपनियों को दी गयी। भूमि गंवाने वाले और उजड़ने वाले किसान जब विरोध में आवाज उठाते हैं तो उनके आंदोलन को लाठी और गोलियों से दबाया जाता है।

 
 
 
अन्य खबरें
 
 
 
 
 
 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड