शनिवार, 01 नवम्बर, 2014 | 12:20 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    आम आदमी की उम्मीदों को पूरा करे सरकार: शिवसेना वर्जिन का अंतरिक्ष यान दुर्घटनाग्रस्त, पायलट की मौत केंद्र सरकार के सचिवों से आज चाय पर चर्चा करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा आज से शुरू करेगी विशेष सदस्यता अभियान आयोग कर सकता है देह व्यापार को कानूनी बनाने की सिफारिश भाजपा की अपनी पहली सरकार के समारोह में दर्शक रही शिवसेना बेटी ने फडणवीस से कहा, ऑल द बेस्ट बाबा झारखंड में हेमंत सरकार से समर्थन वापसी की तैयारी में कांग्रेस अब एटीएम से महीने में पांच लेन-देन के बाद लगेगा शुल्क  पेट्रोल 2.41 रुपये, डीजल 2.25 रुपये सस्ता
MIM के बंद का आदिलाबाद, निजामाबाद में असर
हैदराबाद, एजेंसी First Published:09-01-13 01:19 PM
Image Loading

आंध्र प्रदेश में मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एमआईएम) ने पार्टी नेता अकबरुद्दीन ओवैसी की गिरफ्तारी के विरोध में बुधवार को आदिलाबाद और निजामाबाद के कुछ हिस्सों में बंद कर रखा है।

प्रत्यक्षदर्शियों और अधिकारियों ने बताया कि आदिलाबाद और निर्मल सहित कुछ शहरों में दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद हैं। एमआईएम के विधायक ओवैसी को मंगलवार रात निर्मल कस्बे में घृणास्पद भाषण देने के मामले में गिरफ्तार कर लिया गया था। इसके बाद उन्हें आदिलाबाद स्थित जिला जेल भेज दिया गया था।

पुलिस ने महाराष्ट्र की सीमा से लगे उत्तरी तेलंगाना के दोनों जिलों में सुरक्षा बढ़ा दी है। निषेधाज्ञा के तहत दोनों जिलों में पांच और उससे अधिक लोगों के एक साथ इकट्ठा होने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की गई है। एहतियात के तौर पर पुलिस ने एमआईएम के कई नेताओं को गिरफ्तार कर लिया है।

ज्ञात हो कि अकबर को निर्मल और निजामाबाद, दोनों शहरों में सार्वजनिक सभा के दौरान कथित तौर पर घृणास्पद भाषण देने के मामले में गिरफ्तार किया गया है।

हालांकि एमआईएम ने अपने गढ़ हैदराबाद में बंद का आह्वान नहीं किया है, लेकिन इसके बावजूद अधिकारियों ने शहर के संवेदनशील क्षेत्रों में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। विशेषकर पुराने हैदराबाद में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

एमआईएम प्रमुख और विधायक असदुद्दीन ओवैसी ने लोगों से शांति बनाए रखने का आग्रह किया है। उन्होंने अपने छोटे भाई की गिरफ्तारी को कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की साजिश बताया है।

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि उन्हें कानून पर पूरा भरोसा है। उर्दू भाषा के समाचार पत्र 'एतेमाद' में प्रकाशित एमआईएम के बयान में उन्होंने उम्मीद जताई है कि अकबर के मामले में उन्हें न्याय मिलेगा।

 

 
 
 
टिप्पणियाँ