रविवार, 31 मई, 2015 | 04:03 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    7.8 तीव्रता के भूकंप से हिला जापान, दिल्ली-एनसीआर में भी लगे झटके मोदी का राहुल पर तीखा प्रहार, कहा सूटबूट की सरकार सूटकेस से बेहतर  पाकिस्तान: स्टेडियम के बाहर हुआ ब्लास्ट, 4 घायल अरुणा शानबाग का दोषी बोला, लोगों से मिलती है घृणा पतंजलि फूड फैक्टरी से मिले हथियार, जांच में जुटी एसटीएफ पांचवीं बार फीफा के अध्यक्ष बने सेप ब्लेटर भारत में भीषण सूखे की आशंका, करोड़ों हो सकते हैं प्रभावित पाकिस्तान में आत्मघाती हमला, दो लोगों की मौत अमेरिका में रंगभेद झेलना पड़ा था प्रियंका को! 'वेलकम टू कराची' देखने से पहले रिव्यू तो पढ़ लीजिए
मृत्युदंड बलात्कारियों को नहीं रोक सकता: एमनेस्टी
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:22-12-12 05:00 PM

अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार संगठन एमनेस्टी इंटरनेशल के प्रथम भारतीय प्रमुख ने कहा है कि दिल्ली में एक युवती के साथ सामूहिक बलात्कार के खिलाफ उमड़े आक्रोश को समझा जा सकता है, लेकिन फांसी की सजा इस अपराध का जवाब नहीं है।

एमनेस्टी के ज्यादातर सदस्य उत्तर अमेरिका व यूरोप में हैं। इक्यावन वर्षीय सलिल शेट्टी ने कहा कि वह चाहते हैं कि भारत, ब्राजील व दक्षिण अफ्रीका जैसे विकासशील देशों के लोग भी इससे जुड़ें।

संगठन के महासचिव शेट्टी ने एक साक्षात्कार में आईएएनएस से कहा, ''23 वर्षीया युवती के साथ सामूहिक बलात्कार की यह घटना खतरे की घंटी है।'' उन्होंने कहा, ''इस पर आक्रोश होना अच्छा है। इस पर गुस्सा भी जायज है।''

उन्होंने जोर देकर कहा कि इस बात के कोई प्रमाण नहीं हैं कि फांसी की सजा बलात्कार सहित किसी भी प्रकार के अपराध को रोक पाती है।

उन्होंने कहा, ''इसका सबसे ताजा उदाहरण अमेरिका के स्कूल में हुई गोलीबारी है। अमेरिका पश्चिम के उन कुछ देशों में शामिल है, जहां अब भी मौत की सजा दी जाती है लेकिन क्या इससे वहां अपराध रुके हैं।''

शेट्टी ने कहा, ''इसके विपरीत अमेरिका के जिन राज्यों में मृत्युदंड की सजा को हटा दिया गया है, वहां अपराधों में कमी आई है। कनाडा के मामले में भी ऐसा ही है।''

दुनिया के सबसे पुराने मानवाधिकार संगठनों में से एक एमनेस्टी के विश्वभर में 3० लाख सदस्य हैं। यह संगठन किसी भी अपराध के लिए मृत्युदंड का विरोध करता है।

शेट्टी ने कहा, ''मृत्युदंड को जायज नहीं ठहराया जा सकता। गुस्से के आधार पर तुरंत मृत्युदंड पर फैसला नहीं लिया जा सकता।''

उन्होंने कहा कि विकासशील देशों में इस तरह की घटनाएं होने की प्रमुख वजह वहां की आपराधिक न्याय प्रणाली का कमजोर होना है। शेट्टी ने कहा कि यह जानना ज्यादा महत्वपूर्ण है कि बलात्कार के पीछे के कारण क्या थे और बलात्कार व अन्य अपराधों से निपटने के लिए कानूनी व न्यायिक प्रणाली में कौनसी कमियां हैं।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
Image Loadingअजहर का शतक, पाकिस्तान ने जीती वनडे सीरीज
कप्तान अजहर अली (102) के शानदार शतक और हारिस सोहेल (नाबाद 52) के बेहतरीन अर्धशतक की बदौलत पाकिस्तान ने जिम्बाब्वे को दूसरे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में शुक्रवार को 16 गेंदें शेष रहते छह विकेट से पीट दिया और तीन मैचों की क्रिकेट सीरीज 2-0 से जीत ली।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड