शनिवार, 05 सितम्बर, 2015 | 00:18 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
न्यायिक हिरासत में भेजा गया छठा आरोपी
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:29-12-2012 09:52:22 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

दिल्ली में 16 दिसम्बर को चलती बस में एक युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म के मामले के छठे आरोपी को शनिवार को 12 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। इस बीच, सिंगापुर में युवती की मौत हो गई है। इस मामले में गिरफ्तार अंतिम आरोपी अक्षय ठाकुर की पुलिस हिरासत खत्म होने के बाद उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

ठाकुर को विशेष त्वरित अदालत में अतिरिक्त मुख्य महानगर दंडाधिकारी लोकेश कुमार शर्मा के समक्ष पेश किया गया। शर्मा ने उसे 12 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया और पुलिस को निर्देश दिया कि आरोपी को वह फिर नौ जनवरी, 2013 को पेश करे। ठाकुर को पीड़िता और उसके मित्र के कपड़े, पीड़िता की अंगूठी, दोनों के मोबाइल फोन और एटीएम कार्ड बरामद करने के लिए उसे एक दिन के लिए शुक्रवार को पुलिस की हिरासत में ले जाया गया था।

इस आरोपी को 21 दिसम्बर को बिहार के औरंगाबाद से गिरफ्तार किया गया था। 26 दिसम्बर को उसकी शिनाख्त परेड कराई गई थी जिसमें पीड़िता के मित्र ने उसकी पहचान की थी। इस मामले में गिरफ्तार अन्य आरोपी राम सिंह, उसके भाई मुकेश, विनय शर्मा और पवन गुप्ता छह जनवरी तक के लिए न्यायिक हिरासत में हैं। इसके अलावा एक नाबालिग को भी गिरफ्तार किया गया है जिसे बाल सुधार गृह में भेज दिया गया है।

शनिवार तड़के पीड़िता की सिंगापुर में मौत हो जाने के बाद इन आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला भी दर्ज कर लिया है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड Others
 
Image Loading

अलार्म से नहीं खुलती संता की नींद
संता बंता से: 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह-सुबह मेरी नींद खुल गई।
बंता: क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?
संता: नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।