मंगलवार, 04 अगस्त, 2015 | 12:55 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
ललित मोदी प्रकरण और व्यापमं घोटाले पर कांगे्रस सदस्यों के हंगामे और नारेबाजी के कारण आज राज्यसभा की कार्यवाही दोपहर बारह बजे तक के लिए स्थगित।सुषमा स्वराज, वसुंधरा राजे और शिवराज सिंह चौहान के इस्तीफे का सवाल ही नहीं उठता। भाजपा संसदीय दल उनके साथ है: नकवीराज्यसभा 12 बजे तक के लिए स्थगितयादव सिंह मामले में सीबीआई ने दो केस दर्ज किए, नोएडा, ग्रेटर नोउडा, आगरा और फिरोजाबाद में 14 ठिकानों पर छापेमारी।बिहार: हाजीपुर-पटना हाईवे पर पानहाट के समीप किसी वाहन के धक्के से दो पुलिसकर्मियों की मौत, मरने वालों का नाम आनंद बिहारी और नरेंद्र सिंहअमरोहा के हसनपुर में रहरा अड्डे पर स्थित परचून की दुकान के ताले तोड़कर चार लाख का सामान समेटा, पुलिस मौके पर
किफायती युवा ट्रेनों में जुड़ सकते हैं एसी-3 कोच
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:06-01-2013 01:49:34 PMLast Updated:06-01-2013 01:55:29 PM
Image Loading

आर्थिक रूप से किफायती युवा ट्रेन सेवा की आय बढ़ाने के मकसद से उसमें अतिरिक्त एसी-3 डिब्बे जोड़े जा सकते हैं। भारतीय रेल द्वारा ऐसी दो युवा ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है जिसमें एसी चेयर सुविधा है। इन ट्रेनों का परिचालन कोलकाता और मुंबई से दिल्ली के बीच किया जा रहा है।

रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि ऐसी दो ट्रेन दो महत्वपूर्ण मार्गों पर चल रही हैं जिन पर पूरे साल भारी मांग होती है, लेकिन इसकी आय उम्मीद के मुताबिक नहीं रही है। भारत में प्रतिदिन करीब 10,500 ट्रेनें चलती हैं और मौजूदा वित्त वर्ष में भारतीय रेल को यात्री किराए से होने वाला घाटा 25 हजार करोड़ रुपये तक पहुंच गया है। अब रेल इस घाटे को कम करने की कोशिश कर रहा है। इसके तहत खर्च में कटौती के साथ कई कदम उठाए जा रहे हैं।

रेल अधिकारी ने कहा कि अतिरिक्त एसी-3 स्लीपर कोच को जोड़ने का विचार इसलिए आया क्योंकि लंबी यात्रा में यात्री इसे तवज्जो देते हैं। युवा ट्रेन फिलहाल बैठने की सुविधा ही मुहैया कराती है। अधिकारी ने कहा कि हम दोनों ट्रेन में एसी-3 टायर डिब्बे जोड़ने की योजना बना रहे हैं क्योंकि ये दोनों मार्ग यात्रियों की लिहाज से भारी मांग वाले होते हैं।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

पागल की बच्ची

बीवी ने शोहर का मोबाइल देखा, फ़ोन बुक में लड़कियों के नाम यूं सेव थे,
.
पड़ोसन की बच्ची,
.
न्यू बच्ची,
.
पुरानी बच्ची,
.
सामने वाली बच्ची,
.
ऊपर वाली बच्ची,
.
कॉलेज वाली बच्ची,
.
इंसोरेंस वाली बच्ची,
.
हॉस्पिटल वाली बच्ची,
.
.
.
बीवी को excitement हुई कि मेरा number किस नाम से save होगा ?
.
बीवी ने अपना number डायल किया तो लिखा था,
.
.
पागल की बच्ची