रविवार, 05 जुलाई, 2015 | 18:23 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    फेसबुक ने 15 साल बाद मां-बेटे को मिलाया  व्हाट्सएप मैसेज से बवाल कराने वाला बीए का छात्र मोहित गिरफ्तार मुरादाबाद: नदी में पलटी जुगाड़ नाव, आठ डूबे, सर्च ऑपरेशन जारी यूपी के रामपुर में दो भाईयों की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच में जुटी बिहार के हाजीपुर में भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद, छह गिरफ्तार झारखंड: चतरा के टंडवा में हाथियों ने कई घर तोड़े, खा गए धान बिहार में आंखों का अस्पताल बनाने के लिए इंडो-अमेरिकन्स का बड़ा कदम मुजफ्फरनगर के शुक्रताल में हजारों मछलियां मरीं, संत समाज बैठा धरने पर भागलपुर: नलों से निकला लाल पानी, लोगों ने बताया खून, लगाया जाम बेउर जेल में बाहुबली रीतलाल यादव के वार्ड में छापा, मोबाइल और सिम मिले
चंद्रबाबू नायडू की पदयात्रा का आज 100वां दिन
हैदराबाद, एजेंसी First Published:09-01-13 02:09 PM
Image Loading

तेलुगु देशम पार्टी के अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू की पदयात्रा का आज 100वां दिन है। इस पदयात्रा के तहत नायडू अब तक आंध्रप्रदेश में 41 विधानसभा सीटों में 1,500 किलोमीटर से अधिक का दौरा कर चुके हैं।

वस्तुन्ना मीकोसम (मैं आपके पास आ रहा हूं) नामक इस पदयात्रा की शुरुआत नायडू ने दो अक्टूबर को की थी और यह 29 मार्च तक चलेगी। पूर्व के कार्यक्रम के अनुसार, इसका समापन गणतंत्र दिवस पर होना था।
   
अब तक नायडू राज्य के 23 जिलों में से नौ जिलों के तहत आने वाली 41 विधानसभा सीटों के 702 गांवों का दौरा कर चुके हैं। कुल 99 दिन में 1587 किमी की यात्रा कर वह आज दसवें जिले में गए।
   
चार जनवरी को उन्होंने 68 दिन में 1,468 किलोमीटर की पदयात्रा का रिकॉर्ड तोड़ा। यह रिकॉर्ड 2003 में विपक्ष के तत्कालीन नेता वाई एस राजशेखर रेड्डी ने 54 साल की उम्र में बनाया था।
   
वाईएसआर अपनी प्रजा प्रस्थानम पदयात्रा के बाद 2004 में मुख्यमंत्री बने और वर्तमान में विपक्ष के नेता 63 वर्षीय चंद्रबाबू नायडू को उम्मीद है कि उनके साथ भी ऐसा ही होगा।
   
बहरहाल, आंध्रप्रदेश के वर्तमान राजनीतिक परिदृश्य में हवा तेदेपा के अनुकूल नहीं है। वाईएसआर के पुत्र जगनमोहन रेड्डी वर्ष 2014 में होने वाले विधानसभा चुनावों की तैयारी कर रहे चंद्रबाबू के लिए बड़ी चुनौती के तौर पर उभरे हैं।
   
किसानों और महिला स्व सहायता समूहों की कर्ज माफी हो, गरीबों के लिए मुफ्त आवास हो, मुफ्त शिक्षा हो या प्रत्येक घर के लिए रसोईगैस के दस सिलेंडर हों, चंद्रबाबू नायडू सब कुछ देने का वादा कर रहे हैं ।

 
 
 
अन्य खबरें
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड