शुक्रवार, 31 अक्टूबर, 2014 | 21:10 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
विद्या प्रकाश ठाकुर ने भी राज्यमंत्री पद की शपथ लीदिलीप कांबले ने ली राज्यमंत्री पद की शपथविष्णु सावरा ने ली मंत्री पद की शपथपंकजा गोपीनाथ मुंडे ने ली मंत्री पद की शपथचंद्रकांत पाटिल ने ली मंत्री पद की शपथप्रकाश मंसूभाई मेहता ने ली मंत्री पद की शपथविनोद तावड़े ने मंत्री पद की शपथ लीसुधीर मुनघंटीवार ने मंत्री पद की शपथ लीएकनाथ खड़से ने मंत्री पद की शपथ लीदेवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली
पदोन्नति में आरक्षण विधेयक के खिलाफ करेंगे मतदान: सपा
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:17-12-12 02:35 PMLast Updated:17-12-12 04:13 PM
Image Loading

समाजवादी पार्टी ने आज कहा कि सरकार की ओर से दबाव और सीबीआई की धमकी के बावजूद वह सरकारी नौकरियों में अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लोगों को पदोन्नति में आरक्षण दिये जाने के खिलाफ है और इस आशय के संविधान संशोधन विधेयक के विरोध में मतदान करेगी।
   
सपा प्रवक्ता मोहन सिंह ने संसद परिसर में संवाददाताओं से कहा कि सपा विधेयक के पूरी तरह खिलाफ है और जब भी इस पर सदन में मत विभाजन होगा, उसके विरोध में मतदान किया जायेगा।
   
उन्होंने कहा कि सपा इस मुद्दे पर संसद में हालांकि अलग थलग पड गयी है लेकिन उसे संसद के बाहर जनता का व्यापक समर्थन है।
   
यह पूछे जाने पर कि क्या सपा पर सरकार को समर्थन करने के लिए सीबीआई का दबाव है, सिंह ने कहा कि हमने पूर्व में ही स्वीकार किया है कि सीबीआई का इस्तेमाल दबाव डालने के लिए होता है। सरकार सीबीआई का दुरुपयोग करती है।
   
सिंह ने कहा कि ऐसा लगता है कि कांग्रेस में कोई भ्रष्टाचार नहीं है और अन्य दलों में हर तरह का भ्रष्टाचार है। सीबीआई केवल लालू प्रसाद, मुलायम सिंह यादव और एम करुणानिधि के खिलाफ जांच करने के लिए ही है।
   
उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस नेताओं ने हालांकि राष्ट्रमंडल खेलों में वित्तीय अनियमितताएं कीं और प्रधानमंत्री ने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई का वायदा किया था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई।
   
यह पूछने पर कि सपा ने राज्यसभा में आज मुस्लिम आरक्षण का मुद्दा क्यों उठाया, सिंह ने कहा कि सच्चर समिति की सिफारिशों को लेकर संसद में कभी कभी मुद्दा उठना चाहिए। आसन से हमें और समय मिलना चाहिए और जल्दबाजी में सदन की बैठक स्थगित नहीं करनी चाहिए थी।

 
 
 
टिप्पणियाँ